20 करोड़ लोगों ने बनवाया ई-श्रम कार्ड, जानिए बनवाने का तरीका और फायदे

My Bharat News - Article कार्ड

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को आर्थिक सुरक्षा देने के लिए सरकार ने ई-श्रम पोर्टल की शुरुआत की है. असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले करीब 20 करोड़ लोग इस पोर्टल पर रजिस्ट्र र्ड हो चुके हैं. यदि आप भी श्रमिक हैं तो आप भी इसका लाभ उठा सकते हैं.

योजना का लाभ उठाने के लिए असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को ई-श्रम की आधिकारिक वेबसाइट eshram.gov.in पर जाकर रजिस्ट्रेठशन करना होगा. पंजीकरण के बाद उन्हें् ई-श्रम कार्ड मिल जाएगा. असंगठित क्षेत्र में काम करने वाला कोई भी भारतीय नागरिक जिसकी उम्र 16 से 59 वर्ष के बीच है, वह इस योजना में पंजीकृत हो सकता है.

ई-श्रम कार्ड के हकदार
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की श्रेणी में दुकान का नौकर / सेल्समैन / हेल्पर, ऑटो चालक, ड्राइवर, पंचर बनाने वाला, चरवाहा, डेयरी वाले, सभी पशुपालक, पेपर हॉकर, जोमैटो व स्विगी के डिलीवरी बॉय, अमेज़न फ्लिपकार्ट के डिलीवरी बॉय, ईंट भठ्ठे पर काम करने वाले मजदूर आदि शामिल हैं.
असंगठित क्षेत्र के श्रमिक अगर ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्टर्ड हैं, तो उन्हें 2 लाख रुपये का एक्सीडेंट बीमा कवर मिलता है. इसका अर्थ यह हुआ कि अगर श्रमिक किसी हादसे का शिकार हो जाता है, तो मृत्यु या फिर विकलांगता की स्थिति में उन्हें 2 लाख रुपये की राशि दी जाएगी. अगर श्रमिक आंशिक रूप से विकलांग होता है, तो उसे इस योजना के तहत एक लाख रुपये मिलेंगे.

इसके अलावा ई-श्रम कार्डधारी असंगठित क्षेत्र के श्रमिक को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना, स्वरोजगार करने वालों के लिए राष्ट्रीय पेंशन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता योजना, आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजनाओं का लाभ मिलेगा.

ऑनलाइन रजिस्ट्रे शन के लिए जरूरी कागजात
पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रे शन के लिए जिन कागजातों की आवश्य्कता होती है उनमें आधार कार्ड, पैन कार्ड और बैंक खाता शामिल है. पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर की भी इसके लिए जरूरत पड़ती है. मोबाइल नंबर का आधार कार्ड के साथ लिंक होना जरूरी है.