स्कूली प्यार की अनोखी दास्तान, छात्रा से शादी के लिए टीचर ने बदला जेंडर

My Bharat News - Article nuJWkqXc

राजस्थान के भरतपुर जिले में एक महिला फिजिकल टीचर को छात्रा से प्यार हो गया और कहते हैं प्यार में सब कुछ जायज है. इसलिए प्यार के परवान चढ़ने की खातिर अपना जेंडर चेंज करा लिया और लड़की से लड़का बनकर स्कूल की छात्रा से शादी कर ली. बताया गया कि फिजिकल टीचर मीरा डीग उपखंड के मोती का नगला के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत थी. मीरा ने स्कूल में पढ़ने वाली कल्पना नाम की छात्रा को कबड्डी का खेल सिखाया और कल्पना को स्टेट लेवल पर कबड्डी का खेल खिलाने भी ले गई थी.

My Bharat News - Article

क्या कहना है मीरा से बने आरव का
मीरा को अपने ही स्कूल के स्टूडेंट कल्पना से प्यार हो गया. प्यार इतना परवान चढ़ा कि मीरा ने अपना जेंडर चेंज करा कर लड़का बन गई और अपने स्टूडेंट कल्पना के साथ 2 दिन पहले शादी कर ली. शादी करने के बाद दोनों काफी खुश नजर आ रहे हैं. मीरा से आरव बनी और कल्पना की शादी से दोनों के परिजन काफी खुश हैं. जेंडर चेंज करा कर मीरा से आरव बने दूल्हा ने बताया कि मैं सरकारी स्कूल मे फिजिकल टीचर हूं. उसी गांव की स्टूडेंट कल्पना खेलने में बहुत अच्छी थी. उसी दौरान हम दोनों के बीच प्यार हो गया था.

My Bharat News - Article FhA6bYGaAAAsyyh

हमेशा से लगता था मैं लड़का हूं- मीरा
टीचर ने बताया, “मैं शुरू से ही जेंडर चेंज कराना चाहता था. 2012 में मैंने एक न्यूज में पढ़ा था की किसी ने जेंडर चेंज कराया है तभी से मैंने सोचा की यह सब कहां और कैसे होगा. तभी यूट्यूब के जरिये मुझे पता लगा की दिल्ली में एक डॉक्टर है जो जेंडर चेंज करने की सर्जरी करते हैं. मैं वहां गया और अपना इलाज कराया, 2019 से इलाज शुरू हुआ और लास्ट सर्जरी 2021 में हुई. मैं लड़की के रूप में पैदा हुई मगर मुझे लगता था कि मैं लड़की ना होकर लड़का हूं. इसलिए मैंने अपना जेंडर चेंज करा लिया और अपने स्टूडेंट कल्पना के साथ 2 दिन पहले शादी कर ली है. अब हमारे परिवार के लोग खुश है.”

My Bharat News - Article FhA6aRqaAAI3Nc9

क्या कहना है दुल्हन का
दुल्हन कल्पना ने बताया, “मेरे स्कूल में फिजिकल टीचर थी मीरा जिन्होंने मुझे 10 वीं कक्षा से ही खेल खिलाया है. मेरा खेल कबड्डी है और आज मैं जो भी हूं मेरे पति बने आरव की वजह से ही हूं. कल्पना का कहना है कि मैं शुरू से ही इनको चाहती थी और अगर यह अपनी सर्जरी नहीं भी कराते तो भी मैं इनके साथ शादी करने को तैयार थी. यह बात हमारे दिमाग में भी थी कि लोग क्या कहेंगे हम गुरु और शिष्य थे गुरु ने शिष्या से शादी कर ली. हमने अपने परिवार वालों से बात की और परिवार वाले राजी हो गए. मेरे पति ने अपना जेंडर चेंज करा लिया वह लड़का बन गई. हम दोनों में प्यार थे इसलिए 2 दिन पहले हम दोनों ने शादी कर ली.”