सावधान! धनतेरस पर भूलकर भी न करें इस मुहूर्त में खरीदारी

My Bharat News - Article

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस का महापर्व मनाया जाता है. इस दिन भगवान धन कुबेर, धनवंतरी और माता लक्ष्मी की पूजा का विधान बताया गया है. ऐसा कहते हैं कि धनतेरस पर इनकी पूजा से धन प्राप्ति और आरोग्य का वरदान प्राप्त होता है. इस साल धनतेरस का त्योहार 22 और 23 अक्टूबर को पड़ रहा है. धनतेरस की पूजा तो 22 अक्टूबर की शाम को ही की जानी चाहिए लेकिन खरीदारी दोनों दिन की जा सकती है. पंडितों का कहना है कि वाहन और लोहे की वस्तुएं खरीदने के लिए रविवार का ही दिन चुनना चाहिए क्योंकि शनिवार को लोहे की चीजें खरीदना शुभ नहीं माना जाता है.
धनतेरस पर शुभ मुहूर्त में पूजा करने से आर्थिक संपन्नता बढ़ती है. लेकिन कुछ अशुभ समयावधि ऐसी भी होती है, जिसमें खरीदारी करने से बचना चाहिए.
धनतेरस की तिथि

हिंदू पंचाग के अनुसार, इस साल कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी तिथि शनिवार, 22 अक्टूबर को शाम 06 बजकर 03 मिनट पर शुरू हो रही है, जो रविवार, 23 अक्टूबर को शाम 06 बजकर 04 मिनट तक रहेगी.

धनतेरस पर इस समय न करें खरीदारी
धनतेरस के दिन राहु काल में खरीदारी करने से बचें. हिंदू पंचांग के अनुसार, 23 अक्टूबर को शाम 04 बजकर 19 मिनट से लेकर शाम 05 बजकर 44 मिनट तक राहुकाल रहेगा. खरीदारी के लिए यह समय अच्छा नहीं है. इस दौरान खरीदारी करने से आपको फायदे की बजाए नुकसान हो सकता है. इसके अलावा, धनतेरस के दिन सुबह 09.00 बजे से लेकर सुबह 10.30 के बीच भी खरीदारी करने से बचें.

धनतेरस पर क्या खरीदें?
धनतेरस के त्योहार पर लोग झाड़ू, धनिया, बर्तन, सोना-चांदी, वाहन, प्रॉपर्टी और कपड़ों की खरीदारी करते हैं. इस दिन आप अपनी आवश्यक्तनुसार चीजें खरीद सकते हैं. हालांकि शास्त्रों में इस दिन ऐसी चीजें खरीदने के लिए कहा गया है जो धन को बढ़ाने का काम करती हैं. इसलिए आपको दैनिक जीवन में इस्तेमाल होने वाली चीजों पर पैसा खर्च करने से बचना चाहिए. सोना-चांदी, प्रॉपर्टी, फ्लैट या कोई पॉलिसी खरीदें तो बेहतर होगा.