सानिया मिर्जा ने प्रदेश का गौरव बढ़ाया, बनेंगी देश की पहली मुस्लिम महिला फाइटर पायलट

My Bharat News - Article सानिया मिर्जा

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर की बेटी सानिया मिर्जा वायु सेना में भारत की पहली मुस्लिम महिला फाइटर पायलट बनने जा रही है. सानिया ने एनडीए की परीक्षा में 148वीं रैंक हासिल की है. सानिया देहात कोतवाली थाना क्षेत्र के छोटे से गांव जसोवर की रहने वाली हैं.


सानिया ने मिर्जापुर के गुरु नानक गर्ल्स इंटर कॉलेज से 12वीं की परीक्षा पास की है और यूपी 12वीं बोर्ड में डिस्ट्रिक्ट टॉपर रही हैं. 10 अप्रैल को, वह एनडीए परीक्षा 2022 के लिए बैठी थीं. एग्जाम क्लियर करने के बाद वह अपने इंटरव्यू की तैयारी के लिए अकादमी में शामिल हो गई. रिपोर्ट्स के मुताबिक, सानिया 27 दिसंबर, 2022 को पुणे में एनडीए खडकवासला में शामिल होंगी.


पेशे से टीवी मकैनिक सानिया के पिता शाहिद अली ने कहा, ‘सानिया मिर्जा देश की पहली फाइटर पायलट अवनी चतुर्वेदी को अपना आदर्श मानती है. वह शुरू से ही उनके जैसा बनना चाहती थी. सानिया देश की दूसरी ऐसी लड़की हैं, जिसे फाइटर पायलट के तौर पर चुना गया है.’

‘गांव की हर लड़कियों को किया प्रेरित’
वहीं सानिया की मां तबस्सुम मिर्जा ने कहा, ‘हमारी बेटी ने हमें और पूरे गांव को गौरवान्वित किया है. उसने फाइटर पायलट बनने का सपना पूरा कर अपने गांव की हर लड़कियों को प्रेरित किया है.”

पहली बार हुई थीं असफल
सानिया मिर्जा देश की दूसरी ऐसी लड़की हैं, जिन्हें फाइटर पायलट के तौर पर चुना गया है. सानिया इस परीक्षा में पहली बार पास नहीं हो पाई तो दोबारा परीक्षा दी. सानिया ने कहा कि वह हमेशा से फाइटर पायलट बनना चाहती थीं. सानिया की प्रेरणा स्रोत देश की पहली महिला पायलट अवनी चतुर्वेदी हैं. वह शुरू से ही उनके जैसा बनना चाहती थी.
गौरतलब है कि राष्ट्रीय रक्षा अकादमी 2022 की परीक्षा में पुरुष और महिला के लिए कुल मिलाकर कुल 400 सीटें थीं, जिसमें 19 सीटें महिलाओं के लिए थीं. वहीं इनमें से दो सीटें लड़ाकू पायलटों के लिए आरक्षित थीं. इन्हीं दो सीटों में से एक सानिया मिर्जा ने हासिल कर ली है.