सरकारी नौकरी का झांसा देकर ऐंठते थे करोड़ों, गिरोह का एक और सदस्य धरा गया

My Bharat News - Article नौकरी का झांसा

सरकारी नौकरी के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले गिरोह के एक और गुर्गे मुनव्वर को एसटीएफ की टीम ने दबोच लिया। गिरोह को पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य का सचिव चला रहा था। अब तक सात गुर्गे धरे जा चुके हैं।
एसटीएफ के डिप्टी एसपी प्रमेश शुक्ला के मुताबिक, मूलरूप से मऊ के सरायलखंसी के मुनव्वर ने दिल्ली के रोहिणी में ठिकाना बना रखा था।


मुनव्वर पूर्व मंत्री के सचिव अरमान खान का करीबी है। ये गिरोह युवकों को सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर ठगता था। 21 अप्रैल को एसटीएफ ने अरमान के साथ फैजी, असगर, विशाल व अमित को पकड़ा था।


इनके खिलाफ हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। विवेचना में ही जमील व मुनव्वर का नाम सामने आया था। 25 हजार का इनामी जमील 21 नवंबर को पकड़ गया था। एसटीएफ को पता चला था कि मुनव्वर कुछ लोगों की मदद से दिल्ली के रोहिणी इलाके में नई बस्ती कॉलोनी में छिपा हुआ है। इसके बाद टीम ने दबिश देकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।