शोपियां में कश्मीरी पंडित की हत्या, नाम पूछकर बरसाईं गई गोलियां

My Bharat News - Article पंडित की हत्या

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकियों ने एक कश्मीरी पंडित की हत्या कर दी। ये फायरिंग सेब बागान में की गई। इसमें सुनील भट्ट की मौत हो गई। वो कश्मीरी पंडित था। उसका भाई इस हमले में जख्मी है। इस घटना से उसके परिवार में मातम का माहौल है।

शुरुआती जानकारी के मुताबिक सुनील भट्ट औऱ उनके भाई अपने सेब के बागान में जा रहे थे. इसी दौरान आतंकियों ने उनसे नाम पूछा और फिर गोलियां बरसाना शुरू कर दिया. टारगेट किलिंग में कश्मीरी पंडित सुनील कुमार भट्ट की मौत हो गई. जबकि फायरिंग में परतिंबर नाथ गंभीर रूप से घायल हो गए.

शोपियां के छोटेपोरा इलाके में आतंकवादियों ने इस घटना को अंजाम दिया है.फायरिंग में सुनील भट्ट और उनके भाई को गोली लगी थी, जिसमें सुनील भट्ट की मौत हो गई. जबकि उनके भाई गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. बताया जा रहा है कि फायरिंग से पहले कश्मीरी पंडियों के नाम पूछे गए थे. इसके बाद गोलियां बरसाईं गई हैं. घायल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

शोपियां में टारगेट किलिंग
इस घटना के बाद फिर सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर कब तक ये टारगेट किलिंग जारी रहेगी ?
उधर, सरकार का दावा है कि धारा 370 हटाने के बाद के बाद आतंकी घटनाओं में कमी आई है। इसके साथ ही लॉ एंड ऑर्डर की घटना में किसी भी नागरिक और जवान की मौत नहीं हुई है। केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने साल 2019 में 5 अगस्त के दिन ही जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद-370 को हटा दिया था। हालांकि टारगेट किलिंग लगातार जारी है।