शिमोगा- सावरकर पोस्टर को लेकर इलाके में तनाव, कर्फ्यू लगया गया, स्कूल-कॉलेज बंद

My Bharat News - Article

कर्नाटक के शिमोगा में स्वतंत्रता दिवस पर सावरकर और टीपू सुल्तान के पोस्टर विवाद को लेकर हिंसक झड़प हो गई. एक युवक पर चाकू से हमला कर दिया गया. जख्मी हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. हालात बेकाबू होते देख प्रशासन ने 18 अगस्त तक के लिए शहर में कर्फ्यू लगा दिया है. शहर के सभी स्कूल और कॉलेज आज बंद रहेंगे.

टीपू सुल्तान सेना के कुछ लोगों द्वारा शहर के अमीर अहमद सर्किल में खंभे से सावरकर का पोस्टर उखाड़ फेंकने का वीडियो सामने आने पर मौके पर पुलिस पहुंच गई. पुलिस ने लोगों को खदेड़ा और लाठियां बरसाईं. कहा जा रहा है कि हिंदुवादी संगठनों से जुड़े लोगों ने सावरकर का पोस्टर वहां लगाया था लेकिन कुछ देर बाद वहां टीपू सुलतान सेना का झंडा लेकर कुछ मुस्लिम युवक पहुंच गए और तस्वीर हटाने की कोशिश करने लगे. हिंदू और मुस्लिम युवकों के बीच इस बात को लेकर तीखी बहस हुई जो हिंसक झड़प में बदल गई. पोस्टर को जब उखाड़ा गया तो बवाल मच गया. मौके पर पहले से ही तिरंगा लहारा रहा था.

18 अगस्त तक शिमोगा में कर्फ्यू
पोस्टर उखाड़ने को लेकर हुई हिंसक झड़प में 26 वर्षीय प्रेम सिंह नाम के एक लड़के पर चाकू से वार कर दिया गया. पुलिस ने सख्ती से निपटते हुए हंगामा कर रहे कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया. इसके बाद 18 अगस्त तक के लिए शिमोगा शहर में धारा 144 लागू कर दी गई ताकि बवाल पर काबू पाया जा सके.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, मौके से सावरकर की तस्वीर हटाकर टीपू सुल्तान की फोटो लगा दी गई थी, जिसे लेकर विवाद हुआ. मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई. कहा जा रहा है कि बवाल को देखते हुए कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र शिमोगा का दौरा करेंगे. फिलहाल शहर में भारी तनाव है और लोगों से शांति बरतने की अपील की गई है.