शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए शनिवार को करें ये खास उपाय

My Bharat News - Article

शनिवार का दिन शनि देव को समर्पित होता है. आज पौष माह का दूसरा शनिवार है. आज पौष मास कृष्ण पक्ष हस्त नक्षत्र भी है. आज सुबह 7 बजकर 35 मिनट तक आयुष्मान योग रहेगा, उसके बाद सौभाग्य योग लग जाएगा. सुबह 9 बजकर 18 मिनट तक उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र रहेगा, उसके बाद हस्त नक्षत्र लग जाएगा. जिन लोगों की कुंडली में शनि दोष है. उन्हें ऐसे शुभ योग में ये विशेष उपाय करने से शनि दोष –साढ़ेसाती और शनि ढैय्या से मुक्ति मिल जायेगी.

हस्त नक्षत्र: ज्योतिष शास्त्र में हस्त नक्षत्र को शुभ नक्षत्र माना जाता है. हस्त नक्षत्र हमारे भाग्य को उज्ज्वल करने वाला होता है. यह हमारे जीवन में परिश्रम करने की क्षमता को बढ़ाता है. हस्त नक्षत्र के स्वामी चंद्रमा माना गया है.

आयुष्मान योग और सौभाग्य योग: ज्योतिष में आयुष्मान योग और सौभाग्य योग को शुभ योग माना जाता है. आयुष्मान योग के प्रभाव से व्यक्ति लम्बे समय तक धरती का सुख प्राप्त करता है. वहीं सौभाग्य योग के प्रभाव से व्यक्ति सौभाग्यशाली होता है और भौतिक सुख सुविधाओं को प्राप्त करता है. ऐसे शुभ योग में शनिवार के ये उपाय बेहद लाभदायक साबित होंगे.

शनिवार के ये उपाय हैं ख़ास
1- शनि की शुभता पाने के लिए शनिवार के दिन स्नान कर गरीबों को क्षमता अनुसार वस्त्र, अन्न दान करें.
2- शनिवार के दिन पीपल के पेड़ में जल अर्पित करने से बहुत जल्दी शनि ग्रह की समस्याएं दूर होती हैं.
3- शनि के अशुभ प्रभाव कम करने के लिए हर शनिवार को शनिदेव पर सरसों का तेल चढ़ाएं. साथ ही सरसों के तेल का दीपल लगाकर शनि चालीसा का पाठ करें.
4- शनिवार के दिन लोहे की वस्तुएं, काले वस्त्र, उड़द, सरसों का तेल, जूते-चप्पल आदि का दान करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं.