लखनऊ- रसमलाई खाने से एक ही परिवार के 6 लोग बीमार, एक की मौत

My Bharat News - Article

रक्षाबंधन के दिन खराब रसमलाई खाने से बीमार पड़े एक ही परिवार के सात लोगों में से रविवार को एक की इलाज के दौरान मौत हो गई। जबकि अन्य छह सदस्यों का सरकारी व निजी अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इन लोगों ने रक्षाबंधन के दिन रसमलाई खाई थी।

अयोध्या निवासी रीता गौड़ रक्षाबंधन से पहले अपने मायके कृष्णानगर आई थीं। रक्षाबंधन के दिन वह अपने चचेरे भाई अमित व सुमित को राखी बांधने पारा स्थित चंद्रोदय नगर गई थीं। रीता ने आलमबाग के संजय स्वीट शॉप से मिठाई खरीदी थी। चचेरे भाइयों को राखी बांधकर वह अपने मायके लौट गईं। वही मिठाई रीता के चाचा राकेश, चाची रूपरानी, पिता राजकुमार, मां ज्ञानवती, भाई अमन ने भी खाई। राखी बांधकर लालकुआं में मामा छोटेलाल के घर भी बची मिठाई लेकर गई। मिठाई खाने के बाद पिता राजकुमार गौड़, मां ज्ञानवती, चाचा राकेश कुमार गौड़, चाची रूपरानी, चचेरे भाई अमित व सुमित, मामा छोटेलाल की हालत बिगड़ गई।

राजकुमार, ज्ञानवती, राकेश को बलरामपुर अस्पताल व रूपरानी, अमित, सुमित और छोटेलाल को आलमबाग स्थित अजंता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान रविवार सुबह चाचा राकेश कुमार गौड़ की मौत हो गई, जबकि चचेरा भाई सुमित व मामा छोटेलाल अब भी अजंता हॉस्पिटल में भर्ती हैं। प्रभारी निरीक्षक पारा थाना दधिबल तिवारी ने बताया कि अमन कुमार गौड़ की तहरीर पर मिठाई दुकानदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

एफएसडीए ने नष्ट कराई ढाई क्विंटल मिठाई
एफएसडीए के सहायक आयुक्त खाद्य डॉ. एसपी सिंह ने बताया कि जानकारी मिलने केे बाद संजय स्वीट शॉप पर कार्रवाई की गई। यहां से मिठाइयों के छह नमूने लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। करीब ढाई क्विंटल मिठाई नष्ट कराई गई है। परिवार की खरीदी रसमलाई का नमूना लेकर भी जांच के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।