लखनऊ में युवती का अपरहण, फिरौती में मांगे 10 लाख

My Bharat News - Article

लखनऊ- सरोजनीनगर इलाके के मकदूमपुर बदालीखेड़ा निवासी प्राची तिवारी का अपहरण हो गया है। अगवा करने वाले बदमाशों ने परिजनों से 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी है। परिजनों ने पुलिस को सूचना दी है। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है। पुलिस के मुताबिक युवती बुधवार दोपहर से ही लापता है। गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज है।

मकदूमनगर बदालीखेड़ा निवासी सुनील कुमार तिवारी दुकान में काम करते है। उनकी बेटी प्राची तिवारी पराग चौराहे पर स्थित एक डेंटल क्लीनिक पर काम करती है। बुधवार दोपहर से वह लापता है। देर रात तक उसका मोबाइल बंद आ रहा था। क्लीनिक पर पता किया तो वहां के कर्मचारियों ने बताया कि वह दोपहर में ही घर जाने के लिए निकल गई थी। काफी तलाश के बाद भी कोई सुराग नहीं मिला तो पिता ने सरोजनीनगर थाने में तहरीर दी। जिस पर पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

व्हाट्सएप काल कर मांगी फिरौती
प्राची के भाई प्रणय तिवारी के मुताबिक कल दोपहर को प्राची का कॉल आया था। उसने 18 हजार रुपये खाते में जमा कराने को कहे। जो खाते में जमा कराया। फिर देर शाम से मोबाइल बंद आने लगा। इस पर क्लीनिक पर गए। वह वहां नहीं मिली तो कई रिश्तेदारों व परिचितों के घर तलाशा गया। सुबह मेरे मोबाइल पर प्राची के नंबर से व्हाट्सएप काल आया। कॉल करने वाले ने अपहरण की बात कही। वहीं प्राची को मुक्त कराने के लिए 10 लाख रुपये मांगे।

कॉल आने पर पहली आवाज उनकी बहन प्राची की थी। उसने खुद बताया कि मेरे गले पर चाकू रखा गया है। मुझे अगवा किया गया है। भाई के मुताबिक इसके बाद मां और उसके मोबाइल पर तीन चार कॉल आ चुकी हैं। एसीपी कृष्णानगर अरविंद कुमार वर्मा के मुताबिक प्राची के पिता सुनील ने तहरीर दी है, जिसके आधार पर अपहरण की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।