लखनऊ में दूध व्यापारी के हत्यारे गिरफ्तार, गाड़ी खड़ी करने को लेकर हुआ था विवाद

My Bharat News - Article दूध व्यापारी की हत्या

लखनऊ में कैसरबाग थाना अंतर्गत पत्थर वाली गली में बुधवार देर रात दूध व्यापारी सिराज उर्फ पीर मोहम्मद 55 वर्ष की हत्या कर दी गई थी. हत्या करने के बाद आरोपी फरार हो गए थे. वहीं पुलिस ने हत्या करने वाले दो आरोपियों को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया. वारदात के वक्त सिराज और आरोपी एक मांगलिक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे. यहां झगड़े के बाद सिराज की हत्या कर दी गयी थी.

लखनऊ में दूध व्यापारी की हत्या के मामले में पुलिस ने बताया कि माडल हाउस पत्थर वाली गली निवासी शेरा सिद्दीकी और कैसरबाग निवासी मो. शफी उर्फ बबिल को पकड़ा गया है. पूछताछ में शेरा ने बताया कि वह सऊदी अरब में काम करता है. कुछ वक्त पहले ही उसने पत्थर वाली गली में मकान खरीदा था. उसके मकान के आगे सिराज भी रहता है. वह काफी दिन से सिराज का मकान खरीदना चाहता था. मगर वह मकान बेचने को तैयार नहीं था. दोनों परिवारों के बीच कई बार मकान के बाहर गाड़ी खड़ी करने को लेकर भी विवाद हो चुका था. मगर आस-पड़ोस के लोग दोनों पक्षों को समझा बुझाकर शांत कर देते थे.

इंस्पेक्टर कैसरबाग रामेंद्र ने बताया कि पत्थर वाली गली में बुधवार को एक कार्यक्रम था. इसमें दूध व्यापारी सिराज और शेरा सिद्दीकी के परिवार शामिल हुए थे. देर रात शेरा सिद्दीकी का सिराज के भतीजे मेराज से गाड़ी खड़ी करने की बात पर विवाद हुआ. इसमें आरोपी शेरा ने शफी के साथ मेराज को पीटना शुरू कर दिया. भतीजे पर हमला होते देखकर सिराज बीच बचाव करने लगे. इस पर शेरा और शफी ने पकड़ कर बुरी तरह पीटा.

दरूनी चोट लगने से सिराज जमीन पर गिर पड़े. उनकी हालत देखकर भतीजे मेराज ने शोर मचा दिया. इसके बाद व्यापारी को इलाज के लिए बलरामपुर अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान शिराज की मौत हो गई. वारदात के बाद से दोनों आरोपी फरार हो गए थे. पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए टीमें लगा दी थीं. दोनों आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया.