लखनऊ में तैनात मेजर हनी ट्रैप में फंसा, सोशल मीडिया पर हुई थी दोस्ती

My Bharat News - Article

लखनऊ- भारतीय सेना में तैनात मेजर को सोशल मीडिया के जरिए हनी ट्रैप कर युवती ने पहले अपने जाल में फंसाया. मेजर ने अपनी सभी निजी जानकारी जब इस महिला मित्र से साझा कर दी, तो वह उसे ब्लैकमेल कर पैसों की डिमांड करने लगी. पैसे देने से मना करने पर महिला मित्र ने भारतीय सेना की आधिकारिक मेल आईडी पर और कुछ अन्य लोगों को मेजर की उसके साथ की गई व्यक्तिगत बातों की जानकारी भेज दी. मेजर ने लखनऊ के कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कराया है. पुलिस के मुताबिक, कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. सेना के उच्च अधिकारियों को सूचित कर जांच की जा रही है.

सोशल मीडिया के जरिए मेजर से युवती ने बढाई दोस्ती – बचपल्ले तेलंगाना के रहने वाले पीड़ित के मुताबिक, वह भारतीय सेना में बतौर मेजर लखनऊ जोन में तैनात हैं. इस दौरान वह नीट पीजी परीक्षा 2021 की भी तैयारी कर रहे थे. दिसंबर 2020 को सोशल मीडिया के जरिए एक महिला साक्षी उर्फ चंदना जैन उनके संपर्क में आई. उसने खुद को पुंजागता, तेलंगाना की निवासी बताया था. पीड़ित के मुताबिक, दोनों की बातचीत के दौरान सोशल मीडिया महिला मित्र साक्षी को जब यह पता चला कि वह नीट की तैयारी कर रहे है, तो महिला ने राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड में कुछ अधिकारियों के साथ अपने संपर्कों का हवाला देते हुए नीट एग्जाम में सेटिंग कराकर अच्छा स्कोर दिलाने की बात कहने लगी. मेजर के मुताबिक, उसने यह करने से इंकार कर दिया और महिला मित्र से बात करना ही बंद कर दिया.
लखनऊ में मेजर से महिला ने ली गोपनीय जानकारी- लखनऊ में हनी ट्रैप के शिकार मेजर के मुताबिक, कुछ समय बाद सोशल मीडिया महिला ने उनसे एक बार फिर संपर्क साधा और अपनी दोस्ती को और भी गहरे रिश्ते तक ले जाने के लिए कहा. मेजर ने अपनी पत्नी से चल रहे तलाक के केस की बात कह कर सिर्फ दोस्ती तक रिश्ते को सीमित रखने की बात कही. मेजर ने अपनी एफआईआर में बताया कि, इस दौरान उन्होंने साक्षी के साथ कई व्यक्तिगत और नौकरी से संबंधित बातें साझा की थीं. इनको लेकर साक्षी कुछ समय बाद उनसे पैसों की डिमांड करने लगी. यही नहीं जब मेजर ने पैसे देने से मना किया, तो महिला मित्र ने मेजर को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. यही नहीं पैसों की डिमांड भी बढ़ाने लगी.

भारतीय मेजर को बताया देशद्रोही- सेना में तैनात मेजर ने बताया कि जब उन्होंने महिला मित्र से हर तरह के संपर्क तोड़ लिए, तो वह एक दूसरे नाम से फर्जी मेल आईडी बनाकर मेजर से जुड़ी गोपनीय जानकारी लोगों को मेल करने लगी. यही नहीं उसने सेना की आधिकारिक मेल आईडी पर मेल कर कहा कि पीड़ित मेजर देशद्रोही है और भारतीय सेना औक सुरक्षा से जुड़ी कई जानकारी मेजर ने सोशल मीडिया की महिला मित्र से साझा की हैं. यही नहीं मेजर पर 86 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने का भी आरोप लगाया. मेजर के मुताबिक, वह इसकी शिकायत लेकर लखनऊ के कैंट थाने गए थे, जहां उनकी एफआईआर नहीं दर्ज की गई थी. इसके बाद उन्होंने बुधवार को कोर्ट के आदेश पर कैंट थाने में मुकदमा लिखवाया है.

पुलिस कर रही जांच- कैंट थाना प्रभारी राज कुमार ने बताया कि लखनऊ में आर्मी का मेजर हनी ट्रैप का शिकार हुआ है. पीड़ित मूल रूप से तेलंगाना के रहने वाले है और भारतीय सेना में मेजर के पद पर तैनात है. उन्होंने आरोप लगाया है कि सोशल मीडिया के माध्यम से महिला मित्र द्वारा उनकी गोपनीय जानकारी लीक गई है. मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. सेना के उच्च अधिकारियों को सूचित कर मामले की तफ्तीश की जा रही है.