लखनऊ- नौकरी दिलाने के नाम पर ऐंठे लाखों रुपये, खुद को बताया समीक्षा अधिकारी

My Bharat News - Article के नाम पर ठगी

लखनऊ- जालसाज ने नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार से 4.20 लाख रुपये ठग लिए। आरोपी ने खुद को शिक्षा विभाग में एक बड़े आईएएस अफसर का समीक्षा अधिकारी बताया था। उनके नाम पर वसूली की थी। पीड़ित ने इसकी शिकायत विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना से की। इस पर पुलिस कमिश्नर एसबी शिरडकर को जांच का आदेश दिया।
कमिश्नर के आदेश पर आशियाना थाने में जालसाज समीक्षा अधिकारी सहित दो पर केस दर्ज किया गया है। आशियाना के सेक्टर-1 स्थित उद्यम प्रथम निवासी भूपेंद्र नाथ मिश्रा के मुताबिक, घर के सामने मूल रूप से राजस्थान के भरतपुर निवासी क्रांति किराये पर रहता था। वह करीब एक माह उनके मकान में भी रहा था। क्रांति से मिलने आने वाला प्रयागराज के दारागंज निवासी सुरेंद्र कुमार यादव खुद को शिक्षा विभाग सचिवालय का समीक्षा अधिकारी बताता था।

उसने अपनी पहुंच की बात बताते हुए नौकरी दिलाने का झांसा दिया था। भूपेंद्र ने 4.20 लाख रुपये आरोपी के खाते में जमा कराए थे। भूपेंद्र के मुताबिक, सुरेंद्र का मोबाइल नंबर ट्रू कॉलर पर समीक्षा अधिकारी के नाम से आता था। रकम लेने के बाद से वह गायब हो गया। पीड़ित ने सुरेंद्र से किसी तरह बात की तो वह धमकाने लगा।
हताश होकर पीड़ित ने विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना से गुहार लगाई थी। प्रभारी निरीक्षक आशियाना अजय मिश्रा के मुताबिक, शुरूआती जांच में आरोप सही मिलने पर शनिवार को क्रांति और सुरेंद्र कुमार यादव पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।