लखनऊ- एक्शन में गृह विभाग, यातायात को लेकर बुलाई आपात बैठक

सोमवार को तड़के लखनऊ और कानपुर के पुलिस आयुक्त को हटाए जाने के बाद अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने शहर की यातायात व्यवस्था को लेकर लोक भवन में आपात बैठक बुलाई। बैठक में खासकर कानपुर, सीतापुर और बाराबंकी को लखनऊ से जोड़ने वाले नेशनल हाइवे पर यातायात प्रबंध को बेहतर करने पर जोर दिया गया।

अपर मुख्य सचिव ने इन राष्ट्रीय राजमार्गों पर जाम की समस्या के प्रभावी निराकरण, समुचित प्रकाश एवं सफाई व्यवस्था और यातायात के सुचारू संचालन के लिए तत्काल कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन तीनों राष्ट्रीय राजमार्गो पर पुलिस पेट्रोलिंग व सुरक्षा व्यवस्था को और बेहतर किया जाए और बड़े-बड़े चैराहों पर हाई मास्ट लाईट की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। इसी तरह सड़क किनारे स्थित ढ़ाबों पर पार्किंग की व्यवस्था हर हाल में सुनिश्चित की जाए। वाहनों के पार्किंग के लिए भी जगह-जगह पर पर्याप्त व्यवस्था की जाए। इसके लिये लखनऊ विकास प्राधिकरण, परिवहन विभाग व नगर निगम द्वारा ट्रकों व अन्य माल वाहक वाहनों के समुचित ठहराव के लिए लीज पर जमीन लेने या अधिग्रहण कर नियमानुसार हाल्टिंग एरिया बनाने के निर्देश दिए।

बंद किए जाएं अनावश्यक कट
अवनीश अवस्थी ने एनएचएआई के अधिकारियों से कहा कि वे लखनऊ-कानपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर बने डिवाइडर की ऊचाई निर्धारित मानकों के अनुरूप करें और अनियमित रूप से सड़क पर बने कट बंद कराए जाएं। पर्याप्त संख्या में संकेतक एवं चिन्हकों के बोर्ड व स्टीकर लगाए जाएं। राजमार्ग के किनारे अतिक्रमण, ढाबों एवं वेयर हाउस के बाहर अनियमित रूप से खड़े किए गए वाहनों को हटाने की कार्रवाई करने के भी निर्देश अवनीश अवस्थी ने दिए।

आकस्मिक सहायता के लिए की जाएगी दो बड़ी क्रेन की व्यवस्था
अवनीश अवस्थी ने कहा कि तकनीक रूप से खराब होने वाले वाहनों और दुर्घटनाग्रस्त वाहनों को हटाने के लिए दो बड़ी क्रेन की व्यवस्था की जाए। उन्होंने सर्विस लेन को गाड़ियों के आवागमन के लिए खाली कराए जाने पर जोर दिया।

तीन शिफ्टों में 24 घंटे लगेगी यातायात पुलिस कर्मियों की ड्यूटी
कार्यवाहक डीजीपी देवेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि सुगम यातायात व्यवस्था बनाए रखने के लिए यातायात पुलिस कर्मियों की तीन शिफ्टों में 24 घंटे ड्यूटी लगाई जाएगी। उन्होंने कहा कि बडे़ वाहनों को सुगमता से मोड़ने के लिए टर्निंग रेडियस बढ़ाया जाए। डीजीपी ने बताया कि ट्रैफिक इन्फोर्समेंट दस्ते का गठन किया गया है, जो नियमों का उल्लघंन पाये जाने पर तत्काल कार्रवाई करेंगे। उन्होंने बताया कि मौके पर ही जुर्माना वसूलने के लिए बड़ी संख्या में पीओएस मशीनें यातायात कर्मियों को उपलब्ध कराई जा रही हैं। चौहान ने बताया कि ट्रैफिक डायवर्जन की एसओपी बना ली गई है। इसे वरिष्ठ अधिकारियों की सहमति से जनसामान्य की जानकारी के लिए जारी किया जाएगा।

बैठक में एडीजी यातायात अनुपम कुलश्रेष्ठ, सचिव गृह तरूण गाबा, विशेष सचिव गृह राकेश कुमार मालपानी, जिलाधिकारी लखनऊ सूर्य पाल गंगवार के अलावा आवास, नगर विकास, पंचायती राज, परिवहन, लोक निर्माण विभाग, लखनऊ विकास प्राधिकरण व राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों ने हिस्सा लिया।

My Bharat News - Article image 1