रूस-यूक्रेन युद्ध: रूस ने अमेरिकी हथियारों को बनाया निशाना

My Bharat News - Article

रूस और यूक्रेन के बीच बीते 67 दिनों से युद्ध जारी है. दोनों देशों के बीच कई दौर की वार्ता भी इस युद्ध को अभी तक खत्म नहीं कर सकी है. आज रविवार (1 मई) को रूस ने युद्ध को लेकर बड़ा दावा किया है. रूस ने बयान जारी कर यूक्रेन के ओडेसा में मिसाइल हमलों से हथियारों की बड़ी खेप को नष्ट करने का दावा किया है.

यूक्रेन के ओडेसा में रूस का भीषण हमला
समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने बताया कि रूस ने रविवार को संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय देशों द्वारा यूक्रेन को आपूर्ति किए गए हथियारों पर हमला किया. यूक्रेन के ओडेसा शहर के पास एक सैन्य हवाई क्षेत्र में रनवे को नष्ट कर दिया. रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उसने हवाई क्षेत्र पर हमला करने के लिए ओनिक्स मिसाइलों का इस्तेमाल किया.

रूस ने यूक्रेन को पहुंचाया बड़ा नुकसान
ओडेसा के क्षेत्रीय गवर्नर मैक्सिम मार्चेंको ने कहा कि इन हमलों के लिए रूस ने क्रीमिया से लॉन्च की गई बैस्टियन मिसाइल का इस्तेमाल किया था. रक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा कि उसकी हवाई रक्षा प्रणालियों ने रात भर खार्किव क्षेत्र में यूक्रेन के दो Su-24m बमवर्षकों को मार गिराया.

नागरिक तलाश रहे सुरक्षित ठिकाना
समाचार एजेंसी एपी ने बताया कि तटीय दक्षिणी यूक्रेन और देश के पूर्वी औद्योगिक गढ़ में रूस के आक्रमण में यूक्रेनी सेनाएं गांव-गांव से लड़ रही हैं. इन क्षेत्रों में जान बचाने के लिए नागरिक सुरक्षित जगहों की तलाश में भाग रहे हैं.

यूक्रेन से अब तक 55 लाख लोग जा चुके हैं दूसरे देश

कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि मारियुपोल में फंसे लोगों के लिए अब बहुत कम खाना, पानी और दवा बची हुई है. हाल ही में जारी संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों से पता चलता है कि यूक्रेन पर आक्रमण के बाद से लगभग 5.5 मिलियन यानी 55 लाख लोग यूक्रेन से भाग गए हैं.

सामने आई चौंकाने वाली रिपोर्ट
संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के आंकड़ों के अनुसार, 24 फरवरी को रूस के युद्ध की शुरुआत के बाद से लगभग 5.5 मिलियन (लगभग 55 लाख) लोग यूक्रेन से दूसरे देशों में जा चुके हैं. अधिकांश ने यूक्रेन की पश्चिमी सीमा पर स्थित देशों में शरण ली है. 3 मिलियन (30 लाख) से अधिक लोग पोलैंड में हैं. जबकि 8,17,000 से अधिक लोग रोमानिया शरण लिए हुए हैं. लगभग 5,20,000 हंगरी में चले गए हैं.