यूक्रेन- रूस युद्ध के बीच दूसरे भारतीय की मौत ,बीमारी के चलते पंजाब के चंदन ने तोड़ा दम

My Bharat News - Article suicide 1200 1615697185

यूक्रेन- रूस के युद्ध के बीच दूसरे भारतीय की मौत की खबर है। बुधवार को पंजाब के रहने वाले 22 साल के चंदन जिंदल नाम के छात्र की मौत हो गई। हालांकि चंदन की मौत किसी हमले में नहीं बल्कि बीमारी से हुई है। वह यूक्रेन की विनित्सिया मेडिकल यूनिवर्सिटी के अस्पताल में इलाज के लिए एडमिट थे। दिमागी स्ट्रोक के चलते वह आईसीयू में एडमिट थे। लेकिन इलाज के दौरान चंदन की बुधवार को मौत हो गई। यूक्रेन में यह लगातार दूसरे भारतीय की मौत है। इससे पहले मंगलवार को कर्नाटक के रहने वाले नवीन की खारकीव में गोलीबारी के दौरान मौत हो गई थी। 

नवीन के साथियों ने बताया कि वह कुछ सामान लेने के लिए सुपरमार्केट गए थे। इसी दौरान हुए एक हमले में उनकी मौत हो गई थी। चंदन जिंदल विनित्सिया नेशनल पाइरोगोव, मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई कर रहे थे। चंदन के पिता ने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर बेटे के शव को भारत लाए जाने की मांग की है। केंद्र सरकार की ओर से कर्नाटक के नवीन को शव को भी जल्द से जल्द भारत लाए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं। दरअसल यूक्रेन ने अपना एयरस्पेस बंद कर रखा है। ऐसे में वहां किसी भी देश के विमान की लैंडिंग नहीं हो सकती है।

यूक्रेन में विमान जाने पर रोक के चलते भारत सरकार अब पड़ोसी देशों से ही छात्रों एवं अन्य भारतीयों को लेकर आने के प्रयास कर रही है। इसी तरह शवों को भी पड़ोसी देशों रोमानिया, हंगरी, पोलैंड अथवा स्लोवाकिया के रास्ते ही लाया जा सकेगा। यही वजह है कि इस पूरी प्रक्रिया में समय लग सकता है। बता दें कि अब तक 10,000 से ज्यादा भारतीय यूक्रेन से निकलकर स्वदेश आ चुके हैं। हालांकि अब भी बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जो यूक्रेन में ही फंसे हैं। खारकीव, कीव समेत यूक्रेन के कई शहरों में छात्र फंसे हैं। इनमें बड़ी संख्या मेडिकल की पढ़ाई के लिए यूक्रेन गए छात्रों की है।