मुख्तार अंसारी के बेटे को ढूंढ रही पुलिस, कई ठिकानों पर छापेमारी

My Bharat News - Article अंसारी

माफिया व मऊ सदर के पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी की तलाश में लखनऊ कमिश्नरेट की पुलिस ने पांच ठिकानों पर दबिश दी लेकिन आरोपी अब्बास हाथ नहीं लगा। उसके खिलाफ कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। अब्बास मऊ सदर सीट से सुभासपा से विधायक है। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के मुताबिक पुलिस टीम ने लखनऊ में मेट्रो सिटी महानगर और न्यू विधायक आवास हजरतगंज, मऊ, गाजीपुर और दिल्ली में उसके ठिकानों पर दबिश दी लेकिन वह फरार है।

पुलिस के मुताबिक मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी के खिलाफ 2019 में महानगर थाने में जालसाजी का मुकदमा दर्ज किया गया था। आरोप था कि एक लाइसेंस पर कई हथियार खरीदे गए हैं। इस मामले की सुनवाई एमपी एमएलए कोर्ट के विशेष एसीजेएम अम्बरीष श्रीवास्तव की कोर्ट में चल रही थी। कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। कोर्ट ने थाना महानगर को आदेश दिया कि वह आरोपी अब्बास अंसारी को 27 जुलाई तक गिरफ्तार करके कोर्ट को सूचित करें ।

कोर्ट ने यह आदेश 15 जुलाई को दिया था। इंस्पेक्टर महानगर ने कोर्ट में रिपोर्ट देकर बताया कि अब्बास के खिलाफ जमानती वारंट जारी है। जिसका अनुपालन कराने के लिए आरोपी के सभी ज्ञात और संभावित स्थानों पर तलाशने गए लेकिन आरोपी या उसके परिवार का कोई सदस्य नहीं मिला लिहाजा नोटिस को चस्पा कर दिया गया है। कोर्ट से गुजारिश की गई है कि आरोपी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया जाए।

महानगर थानाप्रभारी अशोक कुमार सिंह ने 12 अक्तूबर 2019 को रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि मेट्रो सिटी निवासी अब्बास अंसारी ने 2012 में डीबीडीएल गन का लाइसेंस लिया था। बाद में अब्बास ने अपना शस्त्र लाइसेंस दिल्ली के पते पर स्थानांतरित करवा लिया था।

कहा गया कि अब्बास ने खुद को विख्यात निशानेबाज दिखाकर दिल्ली वाले शस्त्र लाइसेंस पर कई शस्त्र खरीद लिए। रिपोर्ट में कहा गया कि आरोपी ने लखनऊ पुलिस को बिना जानकारी दिए और अनुमति लिए धोखाधड़ी कर लाइसेंस को दिल्ली स्थानांतरित करवाया और उस पर कई हथियार लिए।

मुख्तार अंसारी के बेटे को ढूंढ रही पुलिस, कई ठिकानों पर छापेमारी