माफिया गब्बर सिंह के साथ प्रशासन की गब्बर गिरी ।होटल को किया कुर्क।

My Bharat News - Article 93bb722a 47d4 4c07 a695 27a75ea70a20

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को माला पहनाकर सुर्खियों में आए माफिया गब्बर सिंह का गेस्ट हाउस कुर्क कर लिया गया है। उसने शहर के बीचो-बीच करोड़ों रुपये का कांप्लेक्स बनाया था।
गब्बर सिंह का गेस्ट हाउस।
गब्बर सिंह का गेस्ट हाउस। –

My Bharat News - Article 93bb722a 47d4 4c07 a695 27a75ea70a20

मुख्यमंत्री के मंच पर चढ़कर गुलदस्ता देने की तस्वीर सामने आने के बाद चर्चा में आए जिला पंचायत सदस्य व माफिया गब्बर सिंह की 110 करोड़ की संपत्ति को जिला प्रशासन ने कुर्क कर लिया। चंद मिनटों में ही माफिया का होटल छावनी में तब्दील हो गया। गेट से लेकर अंदर भारी मात्रा में फोर्स तैनात हुई और बजते सायरन के बीच डीएम-एसपी के साथ अन्य प्रशासनिक अमला बंधन होटल पहुंच गया। डीएम ने कुर्की की नोटिस चस्पा करते हुए सीज करने की कार्रवाई करने का निर्देश दिया। डीएम के निर्देश पर सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में कार्रवाई की गई। माफिया गब्बर के खिलाफ अब तक 47 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं।
विज्ञापन

पयागपुर थाना क्षेत्र के मोहनमाफी गांव निवासी देवेंद्र सिंह उर्फ गब्बर सिंह जिला पंचायत सदस्य है। इसके खिलाफ 1992 से लेकर अब तक 47 मुकदमे दर्ज हैं। गब्बर सिंह पर श्रावस्ती, गोंडा, बलरामपुर व अयोध्या जिले में कूटरचित दस्तावेज तैयार करके सरकारी जमीन पर कब्जा करना व गरीब लोगों को बंधक बनाकर जमीन को क्रय-विक्रय के मामलों में मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। इस समय पयागपुर थाने में छह मुकदमे दर्ज हैं। बढ़ते अपराध को देखते हुए एसपी केशव चौधरी के निर्देश पर गब्बर सिंह के खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई की गई। रविवार की दोपहर लगभग 12 बजे अवैध धन से बनाया गया बंधन गेस्ट हाउस छावनी में तब्दील हो गया। होटल के बाहर से लेकर अंदर तक पीएसी व पुलिस के जवान मुस्तैद हो गये।

एएसपी नगर कुंवर ज्ञानंजय सिंह, एडीएम मनोज कुमार, सिटी मजिस्ट्रेट ज्योति राय, सीओ सिटी विनय द्विवेदी, कैसरगंज सीओ कमलेश सिंह, नगर कोतवाल शैलेश सिंह, देहात कोतवाल सत्येंद्र बहादुर सिंह व दरगाह थानाध्यक्ष मनोज सिंह मुस्तैद रहे। तभी डीएम डॉ. दिनेश चंद्र व एसपी केशव चौधरी का काफिला होटल में पहुंचा। डीएम ने माइक से ऐलान करते हुए कहा कि इस होटल को धारा 14(1) के तहत कुर्क किया जाता है। डीएम के निर्देश के बाद सिटी मजिस्ट्रेट के नेतृत्व में आगे की कार्रवाई की गई। डीएम ने बताया कि सिटी मजिस्ट्रेट को प्रशासक नियुक्त किया गया है। सहयोग के लिए तहसीलदार व सीओ पुलिस को लगाया गया है।

गठित की गईं सात टीमें
बंधन होटल में बने कमरों में लगे एसी, पंखे व बेड समेत अन्य सामानों की गिनती करने के लिए सात टीमें बनाईं। एक टीम में दो सदस्यों को रखा गया। जो होटल के बने कमरों में रखे सामान का ब्यौरा एकत्र करेंगे। यह कार्रवाई शाम तक चलती रही।

85 करोड़ का होटल व 25 करोड़ की मार्केट हुई कुर्क
पुलिस लाइन सभागार में प्रेस वार्ता करते हुए डीएम-एसपी ने बताया कि बंधन होटल मैरिज लॉन कॉमर्शियल 40 कमरे के होटल को कुर्क किया गया है। जिसकी कीमत 85 करोड़ रुपये है। दूसरी वीरसेन सिन्हा मार्केट का आंशिक भाग दुकान छोटी बाजार को कुर्क किया गया है। जिसकी कीमत 25 करोड़ रुपये है।

प्रदेश के 50 अपराधियों में नाम है शामिल
प्रेस वार्ता के दौरान एसपी ने बताया कि गब्बर सिंह पुराना अपराधी है। प्रदेश के 50 अपराधियों में इसका नाम शामिल है। यह गैंग का लीडर है। इसके साथ मनीष जायसवाल, महेंद्र सिंह उर्फ अभय प्रताप सिंह गैंग के सक्रिय सदस्य शामिल हैं। एसपी ने कहा कि गब्बर के गैंग में जितने लोग भी शामिल हैं सब पर नजर रखी जा रही है और कार्रवाई की जा रही है। किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

सीएम को गुलदस्ता देना पड़ गया महंगा
27 मार्च 2021 को महाराणा प्रताप सिंह की प्रतिमा का अनावरण कार्यक्रम था। मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ थे। प्रतिमा अनावरण करने के बाद मुख्यमंत्री किसान पीजी कॉलेज के पास बने पंडाल में कार्यक्रम को संबोधित करने पहुंचे। मुख्यमंत्री का स्वागत करने का सिलसिला शुरू हुआ तो माफिया व जिला पंचायत सदस्य गब्बर सिंह को भी मंच पर चढ़ने का मौका मिल गया। गब्बर ने भी सीएम को गुलदस्ता देकर फोटो शूट कराया। बस यही फोटो इसके लिए काल बन गया। सोशल मीडिया पर फोटो वायरल होने के बाद इसके ऊपर पुलिस का शिकंजा शुरू हुआ और अब अवैध संपत्ति तक कुर्क हो गई।

जेल में बंद हैं माफिया गब्बर सिंह
माफिया गब्बर सिंह के खिलाफ लूट, अपहरण समेत अन्य धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। इसके ऊपर एडीजी ने एक लाख का इनाम घोषित किया था। बीते चार फरवरी 2022 को लखनऊ से एसटीएफ ने गब्बर सिंह व इसके सहयोगी मनीष सिंह को नगर कोतवाली पुलिस के साथ मिलकर गिरफ्तार किया था। पांच फरवरी 2022 से गब्बर सिंह बहराइच जेल में बंद है।