माता-पिता पहले खुद की ये आदते सुधारें- बच्चे नहीं करेंगे माता-पिता को इग्नोर

My Bharat News - Article परिवार

हर माता पिता का सपना होता है कि उनका बच्चाध उनकी हर बात को मानें और बताए गए तरीके को फॉलो करें लेकिन इसके लिए जरूरी है कि आप भी उनकी नजरों में बेस्ट बनें और वे आपको अपना आदर्श मानें. इसके लिए जरूरी है कि पैरेंट बनने के बाद अपनी बुरी आदतों को हमेशा के लिए छोड़ दें और बेहतर इंसान बनने की कोशिश करें. कहा जाता है कि बच्चेक अपने पैरेंट्स की परछाई होते हैं.

ऐसे में अगर माता पिता बात बात पर गुस्सा करते हैं या चिड़चिड़े हैं तो यह बुरी आदतें बच्चों की पर्सनालिटी पर असर पड़ता है और वे भी माता पिता की इन आदतों को सीख जाते हैं. यहां हम आपको बताते हैं कि आप अपनी खुद की किन आदतों में क्या बदलाव लाएं जिससे आपका बच्चाा आपकी हर बात को सुनें और मानें.


बच्चाह आपको देख रहा है
याद रखें कि जब बच्चेद छोटे होते हैं तभी से वे अपने आसपास और करीबियों को देखते हैं और उनके बिहेव को फॉलो करना सीखने लगते हैं. बड़े बच्चेप भी ऐसे ही होते हैं और अपने पेरेंट्स की आदतों को सीख लेते हैं. ऐसे में उनके सामने कभी भी गलत चीजें ना करें या किसी के साथ मिसबिहेव ना करें.

लड़ें नहीं
कई माता-पिता बच्चोंन के सामने ही आपस में लड़ने लगते हैं जिसका असर बच्चोंी की मानसिकता पर बहुत ही बुरा पड़ता है. ऐसे में अगर जब आप उन्हें लड़ने से मना करेंगे तो वे भी आपकी बात नहीं मानेंगे और लड़कर रहना सीख जाएंगे.

बच्चों को इग्नोर करना
बिजी जिंदगी में अगर बच्चा आपसे अपनी कोई बात शेयर करना चाहता है तो कई बार लोग उसकी बात का सुनने से मना कर देते हैं और उसे इग्नो र कर देते हैं. लेकिन बता दें कि आपके इस बर्ताव की वजह से बाद में आपकी भी बात वे इग्नोइर करना सीख जाएंगे.
बात बात पर ना डाटें
अगर बच्चेर से कोई गलती हो जाए तो उसे बार बार बात सुनाने या डांटने की बजाय आप उसकी बात सुनें और उसे सही बात सिखाएं तो वे आपकी बात हमेशा मानेंगे. इसलिए हर बात पर डाटें नहीं.