भारत में भी तेजी से फैल रहा Omicron, अब तक 200 से अधिक मामले आए सामने

भारत में भी तेजी से फैल रहा Omicron, अब तक 200 से अधिक मामले आए सामने
भारत में भी तेजी से फैल रहा Omicron, अब तक 200 से अधिक मामले आए सामने

दुनिया समेत देश में बढ़ते ओमिक्रॉन(Omicron) के मामलों ने केन्द्र सरकार और स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चिंता को बढ़ा दिया है,देश के कई सारे राज्यों में लगातार कोरोना के इस नए वेरिएंट के मामले सामने आ रहे हैं जिस पर केन्द्र सरकार पहले से अपनी सारी तैयारियां कर लेनी चाहती है और कोरोना की दूसरी लहर के समय देश भर में कोरोना के आतंक को दोहराना नहीं चाहती है। केंद्र सरकार ने कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट को देखते हुए राज्यों को चेतावनी जारी की है,केंद्र सरकार का मानना है कि,ओमिक्रॉन वेरिएंट डेल्टा की तुलना में तीन गुना अधिक संक्रामक है,ऐसे में इसे फैलने से रोकने के लिए राज्य अपने यहां पहले से वॉर रूम केंद्रों को सक्रिय कर दे।

देश में ओमिक्रॉन के मामले तेजी से बढ़े है, केरल से जम्मू और कश्मीर तक अब तक 14 राज्यों में कोरोना ववायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट ने अपनी दस्तक दे दी है। .देश में ओमिक्रॉन के 200 से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं,सबसे ज्यादा मामले मुंबई में सामने आए हैं वहीं दिल्ली में ओमिक्रॉन संक्रमितों की संख्या बढ़कर 54 हो गई है,केन्द्र सरकार ने इसको गंभीरत से लेते हुए राज्यों को चेतावनी जारी कर वार रूम सक्रिय करने के लिए कहा है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में 77 मरीज ओमिक्रॉन से उबर चुके हैं या देश से बाहर जा चुके हैं. महाराष्ट्र में मंगलवार को ओमिक्रॉन के 11 केस सामने आए, जिसके चलते इसके कुल मामलों की संख्या बढ़कर यहां 65 हो गई जो और किसी राज्य के मुकाबले सर्वाधिक है। वहीं राजधानी दिल्ली में मंगलवार को ओमिक्रॉन के 24 नए मामले मिले हैं।

देश मे बढ़ते ओमिक्रॉन के मामलों से गंभीर स्वास्थ्य मंत्रालय ने चिंता व्यक्त की है,इस पर शोध करने वाले वैज्ञानिकों का मानना है कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से भारत में फरवरी में कोरोना की तीसर लहर देखी जा सकती है। .वैज्ञानिकों ने इस बात का भी दावा किया है कि फरवरी के अगले महीने यानि मार्च में ओमिक्रॉन के मामल घटने लगेंगे इससे लोगों को राहत मिलेगी।

फिलहाल अब जब देश में ओमिक्रॉन के काफी ज्यादा केस देखे जा रहे हैं तो एक बार फिर से राज्य सरकारों की ओर से नाइट लॉकडाउन की प्रक्रिया जल्द ही शुरू हो सकती है इसको लेकर लोगों के मन में जहां भय और दहशत का माहौल है तो वहीं सरकार का भी मानना है स्थिति पहले से ज्यादा गंभीर हो इससे पहले ही ये कदम उठा लेना अत्यंत आवश्यक है। .केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की ओर से राज्यों को लिखे गए पत्र में कहा गया है टेस्टिंग और निगरानी बढ़ाने के अलावा रात में कर्फ्यू लगाने,सभाओं पर रोक लगाने,शादी समारोह में आने वाले लोगों की संख्या को जल्द ही सीमित करने जैसे कदम उठाए जाएं।