बहराइच के कतर्नियाघाट में तेंदुए की संदिग्ध मौत, आपसी संघर्ष में मौत की आशंका

My Bharat News - Article की मौत

बहराइच- कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के ककरहा वन रेंज अंतर्गत एक तेंदुए की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। सूचना पर पहुंची वन विभाग की टीम ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। तेंदुए के गले पर चोट के निशान पाए गए हैं। संभावना जताई जा रही हैं कि आपसी संघर्ष में तेंदुए की मौत हुई होगी। पोस्टमार्टम के बाद मौत का कारण स्पष्ट होगा।

कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग के महबूबनगर जंगल से सटे एक ग्रामीण के खेत में मंगलवार सुबह एक तेंदुए का शव मिला। स्थानीय ग्रामीणों द्वारा घटना की सूचना वन विभाग को दी गई। वन क्षेत्राधिकारी रामकुमार दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। घटनास्थल का स्थलीय निरीक्षण कर जरूरी कार्रवाई करने के बाद वन टीम शव को उठाकर रेंज कार्यालय ले आई।

वन क्षेत्राधिकारी राम कुमार ने बताया कि मोतीपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत स्थित ग्राम पंचायत हसुलिया का मजरा महबूबनगर भरिया जंगल के किनारे स्थित है। जंगल के समीप ही ग्राम बिचपरी निवासी वीरेंद्र वर्मा का खेत स्थित है। वीरेंद्र वर्मा के खाली खेत में ही मंगलवार को स्थानीय ग्रामीणों द्वारा तेंदुए का शव देखा गया। पग चिन्हों के आधार पर लगता है कि वहां अक्सर तेंदुओं का मूवमेंट रहता है।

पगचिन्हों के आधार पर वहां दो तेंदुओं का मूवमेंट मालूम पड़ता है। तेंदुए के शव को रेंज कार्यालय लाया गया। तेंदुए की उम्र लगभग डेढ़ वर्ष के आसपास है। उच्चाधिकारियों को घटना की सूचना दे दी गई है। उच्चाधिकारियों के निर्देशन में मिहींपुरवा पशु चिकित्सक डा. विनोद भार्गव, कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग में तैनात डा. दयाशंकर तथा डब्ल्यूटीआई के पशु चिकित्सक डॉ. खनिन द्वारा पोस्टमार्टम किया जाएगा ।

पोस्टमार्टम के बाद ही तेंदुए के उम्र तथा मौत के सही कारणों का पता चल पाएगा । प्रभागीय वन अधिकारी आकाशदीप बदावन ने बताया कि घटनास्थल का निरीक्षण किया गया है । लोगों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। वन टीम क्षेत्र की निगरानी कर रही है ।