फुटबाल में हार के बाद बेल्जियम में दंगे, प्रदर्शनकारियों ने लगाई आग

My Bharat News - Article विश्व कप

कतर में चल रहे फीफा विश्व कप मैच में रविवार 27 नवंबर को बेल्जियम पर मोरक्को की जीत के बाद हिंसा भड़क गई. इसके बाद बेल्जियम पुलिस ने एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया और गिरफ्तार भी किया. वहीं प्रदर्शनकारियों ने ब्रुसेल्स में एक कार और कुछ इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगा दी. ब्रसेल्स में कई जगह दंगा भड़के की खबरें सामने आ रही हैं, जिन्हें काबू करने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी.

दंगे बेल्जियम की राजधानी में कई जगहों पर हुए जहां दर्जनों फुटबॉल प्रशंसक, जिनमें से कुछ मोरक्को के झंडे में लिपटे हुए थे. वहीं लोगों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने पानी की बौछारें और आंसू गैस के गोले दागे. पुलिस प्रवक्ता इलसे वान डी कीरे ने कहा कि फिलहाल यहां स्थिति कंट्रोल में है और जिन इलाकों में हिंसक झड़प हुई वहां पर एहतियातन पुलिस की गश्त जारी है.

मेट्रो और ट्राम सेवा की बंद
ब्रसेल्स के मेयर फिलिप क्लोज ने लोगों को शहर के मध्य हिस्से से दूर रहने की सलाह दी है. उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारी सड़कों पर कानून व्यवस्था बनाए रखने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. पुलिस को सुरक्षा कारणों के चलते एहितयातन वहां पर मेट्रो और ट्राम सेवा को भी रोकना पड़ा. हिंसा को फैलने से रोकने के लिए मेट्रो स्टेशनों के गेट बंद कर दिए गए और सड़कों पर पुलिस की गश्त को बढ़ा दिया गया.

एक पत्रकार हुआ चोटिल
पुलिस ने बताया कि दंगाइयों ने आतिशबाज़ी सामग्री, प्रोजेक्टाइल, लाठियों का इस्तेमाल किया और सार्वजनिक राजमार्ग पर आग लगा दी. इस आतिशबाजी के चलते एक पत्रकार के चेहरे पर चोट आई है. पुलिस ने हंगामा रोकने और दंगाइयों को कंट्रोल करने के लिए वाटर कैनन और आंसू गैस का इस्तेमाल किया. पुलिस लगातार इन इलाकों में शरारती तत्वों पर अपनी नजरें बनाई हुई है. पुलिस को डर है कि शहर में फिर से अशांति का माहौल बन सकता है. साथ ही पुलिस हिरासत में लिए गए लोगों से पूछताछ भी कर रही है. पुलिस दंगों के भड़कने के स्पष्ट कारण और इसके पीछे किन लोगों का हाथ है उसका पता लगाने की कोशिश कर रही है.

मोरक्को ने किया बड़ा उलटफेर
फीफा वर्ल्ड कप मुकाबले में रविवार को मोरक्को की टीम ने बेल्जियम को हराकर बड़ा उलटफेर कर दिया. मोरक्को ने बेल्जियम को 2-0 से हराकर विश्व कप में अपनी पहली जीत हासिल की. बता दें कि ये विश्व कप इतिहास में मोरक्को की तीसरी जीत है. इससे पहले उसे 1998 में जीत मिली थी. उस समय मोरक्को ने स्कॉलैंड को 3-0 से हराया था.