फर्रुखाबाद हिस्ट्रीशीटर एनकाउंट मामला: पत्नी ने कहा- वारंट कब जारी हुआ, पुलिस ने बिना तलाश किए फरार बताया, सीबीआई जांच की मांग

My Bharat News - Article एनकाउंटर पर उठ रहे सवाल

फर्रुखाबाद जिले में पुलिस मुठभेड़ में ढेर हुए हिस्ट्रीशीटर देवेंद्र की पत्नी किरन ने पुलिस के एनकांउटर पर कई सवाल उठाए हैं। कायमगंज में ट्रक लूट के जिस मामले में पुलिस देवेंद्र को फरार बता रही है। उस मामले में पुलिस ने कभी देवेंद्र को तलाश भी नहीं किया था।

न ही इससे पहले 25 हजार का इनाम घोषित होने की जानकारी दी गई। इससे पूरे मामले को वह हाईकोर्ट में ले जाएंगी। कन्नौज थाना विशुनगढ़ के गांव पिरायमपुर पैरोल निवासी हिस्ट्रीशीटर देवेंद्र यादव को पुलिस ने कायमगंज कोतवाली क्षेत्र के टेढ़ी कोन चौराहे के पास रविवार भोर मुठभेड़ में ढेर कर दिया था।

देवेंद्र ने वर्ष 2014 में शहर कोतवाली क्षेत्र के गांव चांदपुर निवासी किरन उर्फ अंशू से प्रेम विवाह किया था। इसके बाद से वह ससुराल में ही रह रहा था। पिछले एक वर्ष से देवेंद्र नोएडा में बैग बनाने वाली फैक्टरी में नौकरी कर रहा था।

मुकदमे के संबंध में कोई सूचना नहीं मिली
सोमवार को पत्नी किरन उर्फ अंशू ने बताया कि पति नोएडा में नौकरी करते थे। उनकी कभी-कभी बात होती थी। लगभग डेढ़ माह पहले कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर पति के ऊपर कोई अन्य मुकदमा दर्ज होने की जानकारी मांगी थी।

उसमें किसी मुकदमे के संबंध में सूचना नहीं मिली

कायमगंज ट्रक लूट के मुकदमे में पति के खिलाफ वारंट कब जारी हुए, यह पुलिस ने नहीं बताया। पुलिस ने तलाश में कभी दबिश भी नहीं मारी और न ही कोई सूचना दी। इनाम कब हो गया। इसके बारे में भी उसको सूचना नहीं दी गई।

पत्नी ने की सीबीआई जांच की मांग
मुठभेड़ के बाद पुलिस ने इनाम होने व ट्रक लूट की घटना में वांछित होने की जानकारी दी। किरन ने बताया कि कोटेदार की हत्या में उसने सीबीआई जांच की मांग की थी। मुठभेड़ के मामले में हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगी।

उनके पास पुलिस के खिलाफ काफी साक्ष्य हैं।
बता दें कि पुलिस मुठभेड़ में शातिर अपराधी देवेंद्र की गोली लगने से मौत हो गई थी। वहीं, दो सिपाही घायल हुए थे। शहर कोतवाली के गांव चांदपुर निवासी रिंकू उर्फ देवेंद्र (38) पर विभिन्न थानों में 19 मुकदमे दर्ज थे। देवेंद्र मूल रूप से जनपद कन्नौज थाना विशुनगढ़ के गांव प्राइमपुर पैरोल का रहने वाला था।


वह लंबे समय से चांदपुर में रह रहा था। पुलिस का कहना है कि मुठभेड़ में कायमगंज कोतवाली के सिपाही राजेश और सचिन भी घायल हुए हैं। पुलिस ने उन्हें कहीं भर्ती नहीं कराया है। उनके गोली कहां लगी है, अभी यह भी स्पष्ट नहीं किया है।