पुष्कर सिंह धामी के लिए अपनी सीट छोड़ने को तैयार ये विधायक, जानें क्या है इसका कारण

My Bharat News - Article Upfront 4 5 IT 66A Dhami Jul

उत्तराखंड चुनाव से एक बड़ी खबर सामने आ रही हैं । चंपावत से जीते कैलाश चंद्र गहतोड़ी ने सीएम पुष्कर सिंह धामी के लिए चंपावत सीट छोड़ने की पेशकश की है। उन्होंने कहा कि सिर्फ छह महीने के कार्यकाल में सरकार की छवि निखारने वाले मुख्यमंत्री धामी ने भाजपा को प्रदेश में बड़ी जीत दिलाई है। ऐसे नेता को प्रदेश की बागडोर पूरे पांच साल के लिए मिलनी चाहिए।

My Bharat News - Article kg

सिर्फ इतना ही नहीं गहतोड़ी ने ये भी कहा कि वे मन-तन से जनता की तरफ से इस सीट को धामी के लिए छोड़ना चाहते हैं। चंपावत सीट से पुष्कर सिंह धामी विधायक बनें, इसके लिए प्रदेश संगठन से अनुरोध करेंगे। जीतने का प्रमाणपत्र लेने के बाद बृहस्पतिवार शाम गहतोड़ी ने कहा कि धामी की यह हार एकदम अप्रत्याशित है। वह खुद और पूरी पार्टी इससे सकते में है। गहतोड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री रहते छह महीने में ही धामी ने कई निर्णय लेकर जनता लाभ पहुंचाया और सरकार की छवि चमकाई है।

ईवीएम हुई खराब तो वीवीपैट मिलान से हुई गिनती

आपको बता दें की लोहाघाट विधानसभा सीट के 37 नंबर बूथ की ईवीएम में आई तकनीकी खराबी से वोटों की गिनती वोटर वेरिफायबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) से की गई। लोहाघाट की निर्वाचन अधिकारी रिंकू बिष्ट ने बताया कि मतगणना पूरी होने के बाद राजकीय प्राथमिक विद्यालय थापलागूंठ (जमाड़) वाले बूथ के ईवीएम की वीवीपैट के जरिये वोटों की गिनती की गई। इस बूथ में कुल 93 वोट पड़े थे। भाजपा को 59, कांग्रेस को 28, सपा को तीन, निर्दलीय हिमेश कलखुड़िया को तीन मत मिले। वीवीपैट से गिने गए इस ईवीएम को 17वें चक्र की मतगणना चरण माना गया।