पत्नी और बेटे को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कराने के लिए भी नहीं थे अमजद खान के पास पैसे, गब्बर का किरदार निभा कर बने थे स्टार

पत्नी और बेटे को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कराने के लिए भी नहीं थे अमजद खान के पास पैसे, गब्बर का किरदार निभा कर बने थे स्टार
पत्नी और बेटे को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कराने के लिए भी नहीं थे अमजद खान के पास पैसे, गब्बर का किरदार निभा कर बने थे स्टार
पत्नी और बेटे को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कराने के लिए भी नहीं थे अमजद खान के पास पैसे, गब्बर का किरदार निभा कर बने थे स्टार

हिंदी सिनेमा की सुपरहिट फिल्म ‘शोले’ (Sholay) में ‘गब्बर’ (Gabbar) का किरदार निभाकर अमजद खान ने तहलका मचा दिया था। इस फिल्म के बाद वो रातों-रात स्टार बन गए थे। अमजद खान का अंदाज लोगों के सिर चढ़कर बोलता था जिसे लोग आज भी याद करते है। अमजद खान ने भले ही पर्दे पर अपने रोल्स से सबको डराया हो लेकिन असल जिंदगी में एक्टर ने अपनी जिंदगी में कई उतार चढ़ाव देखे जिससे वो काफी तनाव में भी रहें। वहीं आज हम आपको बताएंगे अमजद खान की जिंदगी से जुड़ी कुछ बातें।

My Bharat News - Article bf71f2d1 2819 4cda 8b2a 3f7b6e4781ef
अमजद खान

अमजद खान की जिंदगी में एक बार ऐसा भी वक्त आया जब वो पैसों की तंगी की वजह से इतने बेबस हो गए थे कि अपनी पत्नी की डिलीवरी के बाद उन्हें और उनके बेटे को डिस्चार्ज करवाने तक के पैसे नहीं थे लेकिन कहते हैं ना जब कोई नहीं होता तब खुदा होता हैं। वहीं इस खबर की जानकारी फिल्म प्रोड्यूसर चेतन आनंद (Chetan Anand) को लग गई।

My Bharat News - Article 2723f1f7 6b16 485b b8ea 58399ed4d0b3
अमजद खान

चेतन आंनद को ये खबर मिलते ही वो अमजद खान के पास पहुंचे और उन्होंने अस्पताल से अमजद की पत्नी और बेटे को डिस्चार्ज करवाया। इस बात का खुलासा अमजद खान के बेटे शादाब (Shadaab) ने अपने एक इंटरव्यू में किया था। दरअसल, शादाब खान का जन्म उसी दिन हुआ था जिस दिन अमजद खान ने फिल्म ‘शोले’ साइन की थी।

My Bharat News - Article c1a09069 ca13 4d0b 9920 78648944e97c
अमजद खान

शादाब खान ने बताया था कि ‘जिस दिन मैं पैदा हुआ था उस दिन उनके पास पैसे नहीं थी कि वो हमें अस्पताल से डिस्चार्ज करवा सकें। ये देखकर मां रोने लगी थी। मेरे पिता शर्म के मारे अपना चेहरा नहीं दिखा पा रहे थे और ना ही वो अस्पताल आ रहे थे। चेतन आनंद ने पापा को इतना परेशान देखा तब उन्होंने अस्पताल को 400 रुपए दिए जिससे मैं और मां डिस्चार्ज हो सकें।’

My Bharat News - Article Gabbar Singh Amjad Khan 1624956510338 1624956528282
अमजद खान

इसके बाद उन्होंने आगे कहा कि, ‘जब गब्बर सिंह की ‘शोले’ मेरे पिता के पास आई, तो सलीम अंकल ने उनके नाम की सिफारिश रमेश सिप्पी से की थी। बैंगलोर के बाहरी इलाके रामगढ़ में शोले को शूट किया जाना था प्लेन ने उड़ान भरी लेकिन उस दिन इतनी परेशानी हुई की प्लेन को 7 बार लैंड करना पड़ा। उसके बाद जब प्लेन रनवे पर रुका तो ज्यादातर लोग बाहर निकल गए लेकिन मेरे पिताजी बाहर नहीं आए। उन्हें डर था कि अगर उन्होंने ये फिल्म नहीं की, तो वो डैनी डेन्जोंगपा के पास चली जाएगी इसलिए वो प्लेन से नहीं उतरे और फिर कुछ देर बाद सफर के लिए निकल गए।’ ये भी कहा जाता है कि, अमजद की किस्मत में ये रोल लिखा था क्योंकि डैनी किसी और प्रोजेक्ट में बिजी थे इसलिए वो इस फिल्म का हिस्सा नहीं बन सके।

My Bharat News - Article Remembering Amjad Khan The Man the artist the philosopher 4
अमजद खान

बता दें कि, अमजद खान का जुलाई 1992 में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था तब वो 51 साल के थे। अमजद खान के तीन बच्चे शादाब, अहलम खान और सीमाब खान हैं। उनकी सबसे यादगार फिल्म शोले है जो साल 1975 में रिलीज हुई थी। इस बाद उन्होंने कई फिल्मों में काम किया और अलग-अलग तरह के रोल अदा किए।

My Bharat News - Article Amjad Khan Age Death Cause Wife Family Biography More
अमजद खान

गौरतलब है कि अमजद ने लगभग 20 साल के अपने करियर में 132 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। उनकी एक्टिंग के साथ-साथ लोग उनके डायलॉग बोलने के स्टाइल के फैन थे। अमजद खान ने अपनी सभी फिल्मों से ज्यादा 1975 की शोले में ‘गब्बर’ के रूप ज्यादा पहचान मिली। मुकद्दर का सिकंदर (1978) में दिलावर के रूप में उनके प्रदर्शन के लिए भी उनकी खूब तारीफ हुई थी।

My Bharat News - Article ba99691e79e0177b59209ffda3043550
अमजद खान

इसके साथ ही अमजद खान ने शतरंज के खिलाड़ी, जमानत, परवरिश, मिस्टर नटवरलाल, कुर्बानी, याराना और चमेली की शादी में भी काम किया जिसमें उन्होंने इतनी बेहतरीन एक्टिंग की जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। अमजद खान आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनकी यादें हमेशा हमारे साथ रहेंगी।