धनतेरस पर भूलकर भी न करें ये गलतियां, नहीं तो हो जाएंगे कंगाल

My Bharat News - Article 1

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है. इस साल धनतेरस 22 और 23 अक्टूबर दोनों दिन मनाया जा रहा है. धनतेरस की पूजा 22 अक्टूबर की शाम को होगी, लेकिन खरीदारी दोनों दिन कर सकते हैं. धनतेरस पर माता लक्ष्मी, भगवान कुबेर और धन्वन्तरि की पूजा होती है. धनतेरस पर नई चीजें खरीदना भी बहुत शुभ माना जाता है. हर साल की तरह इस बार भी आप धनतेरस पर खरीदारी जरूर करेंगे. लेकिन इस त्योहार पर कुछ सावधानियां बरतना भी बहुत जरूरी हैं. आइए जानते हैं कि धनतेरस के दिन कौन सी गलतियां करने से बचना चाहिए.

खर्च नहीं निवेश करें– धनतेरस के त्योहार पर खरीदारी करने का परंपरा है. लेकिन शास्त्र ये कहते हैं कि इस दिन धन को खर्च करने से बचना चाहिए. यानी घर से धन जाने की बजाए आना चाहिए. इसलिए इस दिन रोजमर्रा की जरूरतों पर पैसा खर्च करने की बजाए, निवेश करना चाहिए. आप सोना, चांदी, फ्लैट, जमीन आदि पर पैसा खर्च करें तो बेहतर होगा.


रुपये उधार न दें– धनतेरस के दिन अपने दोस्तों या रिश्तेदारों को उधार रुपया देने की गलती न करें. इस दिन अपने घर से लक्ष्मी यूं ही बाहर न जाने दें. कर्ज या उधार से जुड़ा लेन-देन दिवाली के बाद ही करें तो बेहतर होगा.

खरीदारी में पूरा दिन न बिताएं– धनतेरस के दिन वस्तुएं खरीदने की ही परंपरा होती है. हालांकि कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो धनतेरस पर खरीदारी में पूरा दिन निकाल देते हैं. ये खरीदारी अगर आप मुहूर्त के हिसाब से ही करें तो बेहतर होगा.


लोहा- धनतेरस पर नई चीजों की खरीदारी बहुत शुभ मानी जाती है. हालांकि कुछ चीजें ऐसी भी होती हैं, जिन्हें इस दिन खरीदने से बचना चाहिए धनतेरस के दिन लोहा खरीदने से बचें.


खाली बर्तन– धनतेरस पर बर्तन खरीदने की भी परंपरा है, लेकिन ध्यान रहे कि इस दिन खरीदा गया बर्तन घर में खाली न लेकर आएं. घर के अंदर बर्तन लाने से पहले उसे पानी, चावल या किसी अनाज से भर लें.


मिलावटी चीज- धनतेरस शुभता के साथ-साथ शुद्धता का भी प्रतीक है. इसीलिए इस दिन किसी भी मिलावट वाली चीजों खरीददारी बहुत ज्यादा परहेज करना चाहिए.


मुख्य द्वार– धनतेरस का आपके घर के मुख्य द्वार से खास संबंध है. वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर के मुख्य द्वार से ही सकारात्मक ऊर्जा के साथ-साथ देवी देवता प्रवेश करते हैं. इसलिए धनतेरस पर इस दिन मुख्य द्वार पर गंदगी न रखें.