जीतन राम मांझी के बिगड़े बोल, पंडितों को दी गाली, भगवान को भी नहीं बख्शा

My Bharat News - Article

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन रीम मांझी अपने विवादित बयानों को लेकर एक बार फिर चर्चा में हैं. हाल ही में उनका एक बयान बिहार में शराबबबंदी को लेकर वायरल हुआ था तो अब एक बार फिर पंडितों और सत्यनारायण भगवान को लेकर दिया गया उनका विवादित बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वायरल हुआ ये वीडियो पटना के एक कार्यक्रम का बताया जा रहा है.

दरअसल, राजधानी पटना में शनिवार को भुइयां मुसहर सम्मेलन का कार्यक्रम हुआ था, इस दौरान खुद को दलित समाज का मसीहा बताने वाले बिहार के नेता जीतन राम मांझी ने अपने भाषण के दौरान पंडितों को लेकर अपशब्द का प्रयोग किया. मांझी ने धर्म के नाम पर हो रही राजनीति का मुद्दा उठाया और पंडितों के लिए कहा कि, आजकल गरीब तबके के लोगों में धर्म की परायणता ज्यादा आ रही है, सत्यनारायण भगवान की पूजा का नाम हम लोग नहीं जानते थे लेकिन आज हर जगह हम लोगों के टोला में सत्यनारायण भगवान की पूजा होती है. ये साहब यहीं नहीं रूके और पंडितों के लिए कहा कि इन्हे इतना भी शर्म लाज नहीं लगता है कि पंडित आते हैं और कहते हैं कि हम आपके यहां किछ खाएंगे नहीं केवल कुछ नगद दे दीजिए.

वहीं, पूर्व सीएम मांझी के इस बयान के बाद मामला काफी तूल पकड़ने लगा है, इसके चलते उनका बचाव करने के लिए पार्टी प्रवक्ता मैदान में कूद पड़े. उन्होंने कहा कि उनके नेता के बयान को मीडिया तोड़-मरोड़कर पेश कर रही है,जबकि हमारे नेता सभी धर्मों और तमाम जातियों के प्रति अपनी एक अच्छी आस्था रखते हैं.

आपको बता दें कि इससे कुछ दिनों पहले ही पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने बगहा में शराबबंदी को लेकर भी ऐसा ही विवादित बयान दिया था जो कि सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था, उन्होंने कहा था शराब पीना गलत नहीं है, मेडिकल सांइस भी यही कहता है कि थोड़ी-थोड़ी मात्रा में शराब का सेवन करना लाभदायक है, साथ में ये भी बताया कि DM और SP से लेकर विधायक और मंत्री तक शराब पीते हैं, उन्हें तो कोई गिरफ्तार नहीं करता है.