जालौन- मुहम्मद साहब के जन्मदिन की याद में महफिल का आयोजन, बारगाह बाबुल मुराद में लगा लोगों का जमावड़ा

My Bharat News - Article 2e5137fa 4fca 4601 93e4 240fd9640fc1

जालौन- बारगाहे बाबुल मुराद यानी एकता की वो मिसाल जहाँ पैगम्बर मुहम्मद साहब के जन्मदिन को ऐसे खुलूस के साथ मनाया जाता है। कि पूरे साल ये चर्चा का विषय बना रहता है। जहाँ हिन्दू मुस्लिम सभी भाई मिल जुल कर
इस जश्न को हर्षोल्लास के साथ मनाते है। जहाँ हर साल की तरह इस साल भी उरई के मशहूर समाजसेवी शबाब हाशिम की तरफ से इस्लाम धर्म के प्रवर्तक मुहम्मद साहब के जन्मदिन की यादगार में एक शानदार और अजीमोशान महफ़िल का आयोजन किया गया।

My Bharat News - Article 2e5137fa 4fca 4601 93e4 240fd9640fc1 1

इस महफ़िल में जहाँ एक तरफ विभिन्न धर्मों के धर्म गुरु जुटते हैं वही दूसरी तरफ राजनीति से जुड़े लोग भी अपनी मुरादों को  लेकर यहाँ आते है।

My Bharat News - Article 01

इस महफ़िल से एक तरफ जहाँ भारत की पहचान गंगा जमुनी तहजीब को मजबूती मिल रही। ये महफ़िल पूरे देश को जहां एक तरफ अमन का पैगाम दिखा रही वहीं दूसरी तरफ इस्लाम और उसके प्रवर्तक के बारे में फैली भ्रांतियों से लोगों को परिचय करा रही।

My Bharat News - Article 02

महफ़िल के आखिर में शबाब हाशिम की तरफ से 25 लोगो को हज और कर्बला का टिकट दिया जाता। इनका चुनाव  लक्की ड्रा से किया जाता है।