चिड़िया का शिकार करना युवक को पड़ा भारी, ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला

My Bharat News - Article 2

सीतापुर में रात के समय चिड़िया का शिकार करने गए एक युवक को ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मार डाला। इतना ही नहीं उसके साथियों को भी पीटा गया, जिन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। गांव के लोग इनको बच्चा चोर समझ रहे थे। पुलिस ने दो आराेपियो को हिरासत में लिया है।

बिसवां कोतवाली के पुरैनीगंज में रहने वाले प्रदीप गांव के ही ऊदन, गोपी, महेश और अक्षय के साथ मंगलवार रात धनवास चिड़िया का शिकार करने रामपुर कला थाना क्षेत्र के ग्राम बंभौर गए थे। प्रदीप और उसके साथी पक्षी की तलाश कर रहे थे। इसी समय बंभौर के मनोज अपने साथियों के साथ पहुंचे और पूछताछ करने लगे। इस बीच दोनों पक्षों में कहासुनी होने लगी।

मनोज और उसके साथियों ने प्रदीप व अन्य लोगों पर लाठी-डंडों और धारदार हथियार से हमला कर दिया। हमले में उदन, प्रदीप और गोपी घायल हो गए। शोर सुनकर अन्य ग्रामीण जमा हो गए और बीच-बचाव किया। घायलों को एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिसवां लाया गया।

प्राथमिक उपचार के बाद गोपी को घर भेज दिया गया जहां कुछ देर बाद उन्होंने दम तोड़ दिया। पिटाई से मौत की सूचना बिसवां और रामपुर कला पुलिस को दी गई। गांव पहुंची पुलिस ने गोपी के परिजन के बयान दर्ज किए। परिजन ने बच्चा चोर समझकर पीटे जाने की बात कही। वहीं, पुलिस इस बात से इन्कार कर रही है।