घर के मंदिर में रखें इन बातों का ध्यान, वरना किसी काम का नहीं पूजा-पाठ

My Bharat News - Article का मंदिर

घर में मंदिर हो तो सुख, शांति, सौभाग्या की कामना होती है. ये इच्छाप ईश्व र पूरी भी करते हैं. पर बहुत कम लोग जानते हैं कि घर पर मंदिर रखने के नियम क्याअ हैं.
ये 11 नियम बेहद सामान्य हैं. पर इनकी अनदेखी करने से ईश्वगर रुष्टप हो जाते हैं. इससे सौभाग्य. का आशीर्वाद, दुर्भाग्यघ में बदल सकता है. आप भी जानें इन नियमों के बारे में.

– वास्तुर में कहा गया है कि घर में मंदिर सदैव पूर्व या उत्त र दिशा में ही होना चाहिए.

– कहा गया है कि मंदिर में एक भगवान की एक से अधिक मूर्ति या तस्वी्र नहीं होनी चाहिए. अगर ऐसा है तो ये आमने-सामने ना रखी जाएं.

– जिस तस्वी र या मूर्ति की आप पूजा करते हों वो कभी खंडित या फटी नहीं होनी चाहिए.

– घर में मंदिर की ओर या भगवान की ओर पैर करके नहीं सोना चाहिए.

– मंदिर के आसपास या सामने शौचालय नहीं होना चाहिए.

– पूर्वजों को मंदिर में स्थापित नहीं करना चाहिए. इनकी तस्वी र को सदैव मंदिर के बाहर या भगवान से नीचे लगाना चाहिए.

– देवी-देवताओं की सौम्य रूप वाली तस्वीरें रखनी चाहिए. रौद्र रूपों को त्यासग देना चाहिए.

– मंदिर है तो वहां रोज पूजा की जानी चाहिए. उसे दिन में बंद ना रखें. जिस दीपक से पूजा करें वो खंडित ना हो.

– भगवान की मूर्तियों को एक-दूसरे से 1 इंच की दूरी पर रखें.

– शनि देव और भैरव जैसे देवों की मूर्ति घर के मंदिर में नहीं रखी जाती.

– कई बार लोग केवल धूप-अगरबत्ती जलाकर ही पूजा समाप्तद कर लेते हैं. पर भगवान को भोग लगाना आवश्याक है. आप अपने सामर्थ्य- अनुसार ईश्वीर को भोग अवश्यर लगाएं.