गोंडा के जिला अस्पताल का निरीक्षण, डॉक्टर नहीं मिलने पर भड़के डिप्टी सीएम

My Bharat News - Article

गोंडा- उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक के जिला अस्पताल निरीक्षण में स्वास्थ्य विभाग की अव्यवस्थाओं की कलई खुल गई। डिप्टी सीएम के कहने पर भी करीब दस मिनट तक कोई डॉक्टर मरीज के इलाज के लिए नहीं पहुंचा। जो डॉक्टर डिप्टी सीएम की अगुवाई कर रहे थे उनके पास आला तक नहीं था।

डिप्टी सीएम के आगमन के पहले जिला अस्पताल में आनन फानन में व्यवस्थाएं चाक चौबंद कर स्वास्थ्य अधिकारी मुख्य गेट पर गुलदस्ता लिए खड़े थे। ब्रजेश पाठक गाड़ी से पहले ही उतर कर इमरजेंसी गेट पर स्ट्रेचर पर तड़पर रही कुसुम देवी को देखने पहुंच गए।

परिजनों से कारण पूछा तो उन्होंने बताया कि चार घंटे वार्ड में थे। कोई डॉक्टर देखने तक नहीं आया। डिप्टी सीएम को मरीज के पास देखकर स्वागत में खड़े अधिकारी दौड़कर आए लेकिन किसी के पास आला भी नहीं था।

डिप्टी सीएम के साथ मरीज को मेडिकल वार्ड में ले जाया गया। जहां न बीपी मापने की मशीन थी, न ही ईसीजी करने की व्यवस्था, जिसको देख डिप्टी सीएम आग बबूला हो गए। प्रमुख अधीक्षक को कड़ी फटकार लगाते हुए तुंरत डीएम, सीडीओ, सीएमओ व अधीक्षक को अलग कमरे में बुलाकर कड़ी फटकार लगाई। नर्स ड्यूटी रूम का दरवाजा बंद कर करीब आधे घंटे तक अधिकारियों की क्लास ली।