क्यों लिख दिया गया गुजरात कांग्रेस के मुख्यालय पर हज हॉउस?

My Bharat News - Article df8c6c26 026f 4cdc b5bb a4103c62ffbb

Bajrang Dal: बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने गुरुवार देर रात गुजरात कांग्रेस प्रदेश कार्यालय पर हमला कर दिया. बजरंग दल ने पार्टी ऑफिस का नाम बदलकर हज हाउस कर दिया. बजरंग दल के कार्यकर्ता अहमदाबाद के कांग्रेस कार्यालय पर पहुंचे और स्टिकर व कलर से नाम बदल दिया. बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने पूर्व पीएम राजीव गांधी की प्रतिमा पर भी हज हाउस का स्टिकर-पोस्टर लगा दिया. बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने यह कदम गुजरात कांग्रेस प्रदेश जगदीश ठाकोर के उस बयान के बाद उठाया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि इस देश की संपत्ति पर पहला हक मुसलमानों का है.

My Bharat News - Article df8c6c26 026f 4cdc b5bb a4103c62ffbb

ठाकोर ने हाल ही में अल्पसंख्यक समुदायों के लिए एक चुनावी घोषणापत्र का ऐलान किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस ने हमेशा अल्पसंख्यकों का समर्थन किया है और अपनी विचारधारा को कभी नहीं बदला, चाहे वह सत्ता में हो या नहीं. उन्होंने कहा, “हम सभी जानते हैं कि देश में हो रहे सांप्रदायिक दंगों के पीछे कौन हैं और उन्हें इससे कैसे फायदा होता है. हम जानते हैं और अभी भी इसके शिकार हैं. हमें इसके जाल में न फंसने के बारे में सतर्क रहना चाहिए.”

ठाकोर ने पार्टी के राज्य अल्पसंख्यक विभाग की ओर से आयोजित समारोह में कहा, “कांग्रेस के एक प्रधानमंत्री विश्वास के साथ कहते थे कि देश की संपत्ति पर पहला अधिकार अल्पसंख्यकों का है. कांग्रेस जानती है कि ऐसा कहने से पार्टी को कितना नुकसान हुआ है, लेकिन वह अभी भी अपनी विचारधारा से समझौता नहीं करेगी.” उन्होंने मुस्लिम समुदाय से आगामी गुजरात चुनावों में पार्टी को अपना समर्थन देने का अनुरोध किया. गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं.

ठाकोर के इस बयान पर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने हमला बोला. उन्होंने ट्विटर पर कांग्रेस नेता के भाषण का वीडियो साझा किया और कहा, ”यह विचारों और कार्यों में अंतर है. भाजपा और पीएम मोदी के लिए देश के संसाधनों पर गरीबों का पहला अधिकार है. जबकि कांग्रेस के लिए- तिजोरी/ संसाधनों पर पहला अधिकार एक समुदाय का है.”