केंद्रीय मंत्री ने देश में कोरोना वैक्सीन की कमी पर जताई चिंता,बोले जल्दी ही करूंगा पीएम मोदी से इस पर बात- – –

My Bharat News - Article 76 2
नितीन गडकरी की पीएम मोदी से अपील

भारत में जारी वैक्सीन की किल्लत के बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बड़ा बयान दिया है. नितिन गडकरी का कहना है कि देश में वैक्सीन बनाने के लिए अन्य कंपनियों को भी लाइसेंस मिलने चाहिए, ताकि प्रोडक्शन को बढ़ाया जा सके. नितिन गडकरी का ये बयान तब आया है, जब देश के कई हिस्सों में वैक्सीन की कमी है और बीते दिनों ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी केंद्र सरकार को ऐसा फॉर्मूला सुझा चुके हैं.

My Bharat News - Article 11 6
देश में वैक्सीन की भारी किल्लत पर बोले नितीन गड़करी

वैक्सीन को लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि जब डिमांड बढ़ती है, तो सप्लाई में दिक्कत आती है. ऐसे में वह पीएम मोदी से अपील करेंगे कि वैक्सीन के प्रोडक्शन को बढ़ाने के लिए अधिक लाइसेंस दिए जाएं.

My Bharat News - Article 12 4
वैक्सीन के प्रोडक्शन को बढ़ाने के लिए निजी कंपनियों को लाइसेंस दिए जाने की कही बात

नितिन गडकरी ने दावा किया कि हर राज्य में ऐसी लैब मौजूद हैं, जिनके पास ऐसी क्षमता है. अगर फॉर्मूला दिया जाए तो वैक्सीन का प्रोडक्शन बढ़ सकता है और 15 दिनों में ही नतीजे दिख सकते हैं. नितिन गडकरी ने कहा कि अगर हर राज्य में प्रोडक्शन की क्षमता बढ़ती है, तो सबसे पहले देश में सप्लाई तेज़ होगी और बाद में अगर बनता है तो एक्सपोर्ट भी कर सकते हैं.

My Bharat News - Article 32 2
सीएम अरविंद केजरीवाल भी केंद्र सरकार से कर चुके हैं इस बात की अपील

 आपको बता दें कि बीते दिनों जब महाराष्ट्र में रेमडेसिविर की किल्लत सामने आई, तब नितिन गडकरी की पहल पर कुछ स्थानीय कंपनियों को इसका लाइसेंस दिया गया, जिसके बाद महाराष्ट्र में किल्लत खत्म हुई और रेमडेसिविर अब लोगों के बीच आसानी से पहुंच गया.

My Bharat News - Article 13 3
देश में अन्य कंपनियों को वैक्सीन बनाने के फॉर्मूले को देने की कही थी बात

वैक्सीन की किल्लत को देखते हुए बीते दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी केन्द्र सरकार से अपील की थी. उन्होंने केंद्र से कहा था कि देश में अगर अन्य कंपनियों को वैक्सीन बनाने का फॉर्मूला दिया जाए तो जो कंपनियां पहले से ही इस क्षेत्र में हैं, वो कोरोना वैक्सीन का प्रोडक्शन कर सकती हैं, ऐसे मे जल्द ही बड़े स्तर पर ज्यादा वैक्सीनेशन किया जा सकेगा.