कानपुर में 12 साल की मासूम का शव फंदे से लटकता मिला, परिजनों ने मेडिकल छात्रा पर लगाए गंभीर आरोप

My Bharat News - Article 90वीं की छात्रा ने फांसी लगाकर जान दी

कानपुर के कल्याणपुर के लखनपुर निवासी रामबाबू गुप्ता घर के बाहर परचून की दुकान चलाते हैं। उनकी 12 वर्षीय बेटी नंदिनी इलाके के एक स्कूल में कक्षा नौ की छात्रा थी। नंदनी ने शनिवार रात पड़ोस में रहने वाली मेडिकल छात्रा के कमरे में फंदा लगाकर जान दे दी। रात में जब छात्रा लौटी तो अंदर से दरवाजा बंद था।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव को फंदे से नीचे उतारा। वहीं, छात्रा के परिजनों ने मेडिकल छात्रा व उसके दो मित्रों पर हत्या का आरोप लगाया है। रामबाबू ने बताया कि नंदनी पढ़ाई के साथ-साथ पड़ोस में किराये के मकान में रहने वाली मेडिकल छात्रा के घर काम करती थी।

नंदनी अक्सर उसके कमरे में ही रात में रुक जाती थी। शनिवार रात मेडिकल छात्रा नंदनी को अपने कमरे में रोककर दोस्तों के साथ पार्टी करने बाहर चली गई थी। रात करीब दो बजे पार्टी से लौटी और गेट खटखटाया तो कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। जिस पर उसने घटना की जानकारी कंट्रोल रूम में दी।

सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़ा, तो छात्रा का शव फंदे से लटक रहा था। पुलिस व फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल की जांच की। छात्रा के पास से मिले मोबाइल से पता चला कि नंदनी ने खुदकुशी करने से पूर्व करीब 35 मिनट तक किसी युवक से बात की थी।

वहीं, पोस्टमार्टम होने के बाद परिजनों ने मेडिकल छात्रा व उसके दो साथियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर शव को लखनपुर में रखकर हंगामा करना शुरू कर दिया। परिजनों का आरोप है कि मेडिकल छात्रा व उसके साथी नंदनी से गलत कार्य करवाते थे और उसकी हत्या कर दी।


कल्याणपुर पुलिस ने परिजनों को कार्रवाई का आश्वासन देकर शांत कराया। पुलिस ने बताया कि परिजनों की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्जकर कार्रवाई की जाएगी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।