कानपुर- दारोगाओं पर गिरी गाज, अपराधियों से सम्मानित होना पड़ा बहुत भारी

My Bharat News - Article दारोगाओं पर कार्रवाई

कानपुर में अपराधी संदीप पाल से सम्मानित होने वाले दोनों दरोगा सोमवार को निलंबित कर दिए गए। डीसीपी साउथ ने निलंबन की कार्रवाई करते हुए विभागीय जांच के आदेश दिए। एसीपी गोविंदनगर को विभागीय जांच सौंपी गई है। वहीं संदीप पाल पर गैंगस्टर लगाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

गुजैनी में आठ नवंबर को शातिर अपराधी संदीप पाल ने जागरण का आयोजन किया था। इसमें यादव मार्केट चौकी इंचार्ज गीता सिंह और दरोगा भूप सिंह शामिल हुए थे। संदीप ने दोनों दरोगाओं को सम्मानित किया था। रविवार रात सम्मानित होते दोनों दरोगाओं की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं।

सोमवार सुबह मामले का संज्ञान लेकर डीसीपी साउथ प्रमोद कुमार ने दरोगाओं को निलंबित कर दिया। डीसीपी ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है। जांच के बाद दरोगाओं पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। संदीप पाल के खिलाफ 11 केस दर्ज हैं।
इसमें हत्या के प्रयास, बलवा, मारपीट, गुंडा एक्ट, मादक पदार्थ की तस्करी और जुआ के केस शामिल हैं। डीसीपी का कहना है कि आपराधिक इतिहास के आधार पर गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी। हिस्ट्रीशीट भी खुलेगी। बता दें कि खाकी और अपराधी के गठजोड़ की तस्वीरें पुलिस महकमे से लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बनी हुई हैं।