आगरा- गर्लफ्रेंड ने दिया दोखा, बदला लेने के लिए भतीजे का अपहरण किया

My Bharat News - Article बेवफाई से परेशान होकर भतीजे का अपहरण

आगरा में प्रेमिका की बेवफाई पर युवक ने दोस्त के भतीजे का अपहरण कर लिया। उसे शक था कि दोस्त की वजह से प्रेमिका उससे दूर हुई। बृहस्पतिवार शाम को दोस्त घर पहुंचा। उसके पांच साल के भतीजे को टॉफी खिलाने के बहाने साथ में ले गया। इरादा बच्चे की हत्या करने का था। सूचना पर पुलिस ने तत्काल कार्रवाई की। 12 घंटे में बच्चे को बरामद कर आरोपी भूपेंद्र नागर को गिरफ्तार कर लिया।


यहां का है मामला
एत्माद्दौला थाना क्षेत्र के नगला किशनलाल निवासी मुरारी शर्मा मजदूरी करते हैं। उन्होंने बृहस्पतिवार शाम को 7 बजे पुलिस को अपने भतीजे पुनीत के अपहरण की सूचना दी। कहा कि उनका दोस्त नगला देवजीत निवासी भूपेंद्र नागर भतीजे को टॉफी खिलाने के बहाने घर से ले गया था। तब से उसका कोई पता नहीं है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करके तलाश शुरू कर दी। मथुरा के आजमपुर से पुनीत को बरामद कर लिया गया। आरोपी भूपेंद्र भी पकड़ा गया। पुलिस उपायुक्त नगर विकास कुमार ने बताया कि आरोपी भूपेंद्र की मुरारी से दोस्ती है। पुलिस की पूछताछ में भूपेंद्र ने बताया कि मुरारी ने उसकी प्रेमिका को अपने जाल में फंसाया था। प्रेमिका ने बेवफाई की। उससे अलग हो गई। इसलिए उसने मुरारी को सबक सिखाने के लिए बच्चे का अपहरण किया। बृहस्पतिवार को मुरारी काम पर गया था। घर में पुनीत दादी राजवीरी के पास खेल रहा था। उसे टॉफी दिलाने के बहाने साथ ले गया। उसकी हत्या करना चाहता था। पुलिस ने बताया कि 5 साल के पुनीत की मां की मौत हो गई थी। पिता करन ने दूसरी शादी कर ली। इस कारण पुनीत अपनी दादी राजवीरी के साथ रहता है।


रिश्तेदारों को उठाया तो मिला सुराग
पुलिस आयुक्त डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने बच्चे की बरामदगी के लिए 4 टीम गठित की थीं। एक टीम ने सीसीटीवी कैमरों के फुटेज चेक किए। दूसरी ने भूपेंद्र के भाई, भाभी, प्रेमिका सहित दोस्तों के बारे में जानकारी की। 2 टीम अलग से तलाश में लगीं। पुलिस ने भूपेंद्र के परिवार के 6 लोगों को पूछताछ के लिए उठाया। पता चला कि उसका भाई मनोज मथुरा में है। भूपेंद्र के मथुरा में होने का सुराग मिला। भूपेंद्र बच्चे को रामबाग से एक वाहन में मथुरा ले गया था। काम दिलाने वाले ठेकेदार के पास गया था। उनसे कुछ रुपये मांगे थे। पुलिस पहुंची और उसे पकड़ लिया। बच्चा भी उनके साथ था। दोनों एक कमरे में मिले।


प्रेमिका से करता था मारपीट
थाना एत्माद्दौला के प्रभारी निरीक्षक राजकुमार ने बताया कि भूपेंद्र कुमार मथुरा में तंदूर पर रोटी बनाने का काम करता है। 10 साल से उसकी दोस्ती मुरारी से है। जिस महिला का जिक्र किया जा रहा है वह भूपेंद्र के साथ 8 साल से लिवइन में रह रही थी। उनके 2 बच्चे भी हैं। भूपेंद्र शराब पीने का आदी है। उससे मारपीट करता था। परेशान महिला मुरारी के संपर्क में आ गई। 6 महीने पहले उसने भूपेंद्र से नाता तोड़ लिया था। मुरारी का कहना है कि वह सिर्फ महिला को जानता है। उसका कोई रिश्ता नहीं है। महिला भूपेंद्र से परेशान होकर उसके पास आई थी। भूपेंद्र और उसके भाई मनोज ने अपना मकान बेच दिया था। मनोज किराये पर रहता है, जबकि भूपेंद्र सड़कों पर खानाबदोशों की तरह जीवन जीता है। वह मोबाइल भी नहीं चलाता है।


सीने में गोली मारकर कर दी थी बच्चे की हत्या
अपहरण के मामलों में पुलिस ने दूसरी बार बच्चे को सकुशल बरामद किया है। नवंबर में शाहगंज से व्यापारी के ढाई साल के बेटे को पुलिस ने 24 घंटे में बरामद कर लिया था। आरोपी भी पकड़ा गया था। इस साल थाना एत्माद्दौला क्षेत्र में यह दूसरा मामला है, जब बच्चे का अपहरण हत्या के मकसद से किया गया। अक्तूबर में 4 साल के गोल्डी उर्फ बिट्टू को परिचित बंटी उठाकर ले गया था। बच्चे के सीने में गोली मारकर हत्या कर दी थी।