अस्पताल में भर्ती दारोगा की मौत, 2 महीने पहले किया गया था सस्पेंड, लव अफेयर की बात आई सामने

My Bharat News - Article दारोगा की मौत

उत्तर प्रदेश के कानपुर में जहर खाने के बाद अस्पताल में भर्ती दारोगा की इलाज के दौरान मौत हो गई. चार दिन पहले दारोगा अनूप सिंह ने संदिग्ध हालात में जहर खा लिया था, जिसे आनन फानन में पुलिसकर्मियों ने इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया था. आज सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इसके बाद पुलिस ने आनन-फानन में शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया. परिजन शव को पैतृक गांव जालौन लेकर रवाना हो गए. जालौन में मृतक दरोगा अनूप सिंह का अंतिम संस्कार किया जाएगा.

प्रेम प्रसंग का एंगल आ रहा सामने
तकरीबन 2 महीने पहले अनूप सिंह बिधनू थाने से सस्पेंड किए गए थे. उन पर वसूली के लिए एक परिवार को पीटने का आरोप लगा था. बीती 10 नवंबर को अनूप सिंह ने संदिग्ध अवस्था में जिला पदार्थ खा लिया. इसकी जानकारी जब उनके साथी पुलिसकर्मियों को हुई तो उन्हें आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया. इसके बाद उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया.मृतक दरोगा के परिजन फिलहाल मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं.वहीं, पुलिस अधिकारियों का कहना है दरोगा के जहर खाने के कारणों का पता लगाया जाएगा.

दरोगा अनूप सिंह के जहर खाने के पीछे एक तरफ प्रेम प्रसंग का मामला बताया जा रहा है तो दूसरी ओर विभागीय प्रताड़ना से आजिज होकर दरोगा के जहर खाने की बात कही जा रही है. परिजनों के कुछ नहीं बोलने की वजह से मामला संदिग्ध बना हुआ है. पुलिस के अधिकारी जांच के नाम पर मामले को हल्का करने में जुट गए हैं.

महिला सिपाही से चल रहा था अफेयर
ये भी बताया जा रहा है कि दारोगा का फजलगंज थाने में तैनात महिला सिपाही के साथ अफेयर चल रहा था. दारोगा महिला सिपाही के साथ शादी करना चाहता था. इन्हीं सब के बीच दारोगा का ट्रांसफर बिधनू थाने में हो गया था. इसके बाद दोनों को मिलना कम हो गया. जानकारी के मुताबिक इस दौरान महिला सिपाही दारोगा से बात करना बंद कर दिया. महिला कांस्टेबल का अपने ही थाने के किसी पुलिसकर्मी से अफेयर हो गया था. इस बात की जानकारी दारोगा को हुई तो उसने अपनी प्रेमिका को समझाने की भी कोशिश की, लेकिन महिला सिपाही नहीं मानी. बताया जा रहा है कि इन्हीं बातों से परेशान होकर दारोगा अनूम सिंह दस नवंबर को जहरीला पदार्थ का सेवन कर लिया.