अखिलेश यादव की निकालनी है हेकड़ी तो करे आंदोलन , हम राजभर के साथ_ तंजीम उलेमा इस्लाम ।

My Bharat News - Article 11896d3c a3af 4bc6 9234 4714915c5e19
My Bharat News - Article 11896d3c a3af 4bc6 9234 4714915c5e19

तंजीम उलमा इस्लाम के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर को एक पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने कहा है कि राजभर समाजवादी पार्टी के खिलाफ आंदोलन चलाएं। इसमें हम उनके साथ हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में आपने अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी से गठबंधन करके चुनाव लड़ा था, मगर कामयाबी नहीं मिल सकी। अभी दो लोकसभा के उपचुनाव में सपा उम्मीदवारों को जबरदस्त नाकामी मिली। इस पर आपने अखिलेश यादव को एक साथी की हैसियत से कहा था कि “ए.सी. की ठंडी हवाओं से बाहर निकलते तो सपा के उम्मीदवारों को हार का मुंह नहीं देखना पड़ता”।

उन्होंने राजभर को संबोधित करते हुए कहा कि आपने अखिलेश यादव के हित में बात कही थी मगर उसको तूल देकर आपकी मुखालफत की गई। मुखालफत करने वालों में आजम खां भी थे।
विज्ञापन

मौलाना ने पत्र में आगे स्पष्ट करते हुए कहा है कि आजम खां परिवारवाद की बात करते हैं। वो मुस्लिम कौम की बात नही करते हैं, जिसकी वजह से मुसलमानों पर उनका प्रभाव खत्म हो चुका है। उन्होंने राजभर को सलाह दी है कि जितनी जल्दी हो सके सपा के खिलाफ आंदोलन चलाने का एलान करें। सपा अब डूबता हुआ जहाज है।

उन्होंने पत्र में लिखा कि अखिलेश यादव की मुस्लिम मसाइल पर खामोशी के चलते 50 फीसद मुसलमानों ने सपा से दूरी बना ली है, और बाकी 50 फीसद मुसलमान आने वाले लोकसभा चुनाव तक अलग हो जाएंगे।

उन्होंने पत्र में यह भी कहा है की शिवपाल यादव, मौलाना तौकीर रजा खां और दूसरे नेतागण मिलकर एक मोर्चा बनाएं और सपा के खिलाफ मुहिम चलाएं। मुसलमानों के मसाइल भी उठाएं, मुसलमान आपके साथ खड़ा नजर आएगा। तंजीम उलमा इस्लाम आपका खुलकर समर्थन करेगी। मौलाना ने पत्र में आगे स्पष्ट करते हुए कहा है कि आजम खां परिवारवाद की बात करते हैं। वो मुस्लिम कौम की बात नही करते हैं, जिसकी वजह से मुसलमानों पर उनका प्रभाव खत्म हो चुका है। उन्होंने राजभर को सलाह दी है कि जितनी जल्दी हो सके सपा के खिलाफ आंदोलन चलाने का एलान करें।
ओमप्रकाश राजभर और अखिलेश यादव