अखिलेश के करीबी विधायक इरफान सोलंकी ने किया सरेंडर, बीजेपी सांसद ने की निष्पक्ष जांच की मांग

My Bharat News - Article इरफान सोलंकी

कानपुर– सपा विधायक इरफान सोलंकी को आखिरकार शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया. वह अपने भाई के साथ कमिश्नर ऑफिस में सरेंडर करने पहुंचे थे, तभी पुलिस ने दोनों को अरेस्ट कर लिया. सपा नेता लंबे समय से फरार चल रहे थे. कोर्ट ने उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर रखा था. मालूम हो कि बीजेपी सांसद सत्यदेव पचौरी का बयान सामने आने के बाद उन्होंने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है.

बीजेपी सांसद ने की निष्पक्ष जांच की मांग
फरार चल रहे सपा विधायक इरफान सोलंकी के बचाव में उतर आए हैं. न्यूज एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए कानपुर सांसद ने कहा कि सीसामऊ के सपा विधायक के खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों की जांच स्वतंत्र, निष्पक्ष और तथ्यों के आधार पर की जानी चाहिए.

सांसद से जब पूछा गया कि क्या उन्होंने सोलंकी की पत्नी और मां को प्रमुख सचिव, गृह सहित कुछ वरिष्ठ अफसरों से मिलाने में मदद की? इस पर उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को यह अधिकार है कि वह अधिकारियों के संज्ञान में मामले लाकर उनसे मदद मांगे. हालांकि, बीजेपी नेता ने इरफान सोलंकी के मामले में किसी तरह के दखल देने या परिवार की मदद के लिए किसी से कहने से इनकार किया है.


जमीन विवाद में दंगा, आगजनी का दर्ज है केस
पुलिस ने 8 नवंबर को सोलंकी और रिजवान पर एक महिला के साथ भूमि विवाद के बाद दंगा और आगजनी करने का मामला दर्ज किया था. महिला ने उन पर उसके घर को जलाने का आरोप लगाया था. यह एफआईआर शहर में डिफेंस कॉलोनी जाजमऊ की नजीर फातिमा की शिकायत के आधार पर दर्ज की गई थी. फातिमा का आरोप है कि उसके पास पॉश डिफेंस कॉलोनी में 535 वर्ग गज का एक प्लॉट है, जहां वह 1986 से रह रही थी. विधायक और उसके भाई ने उसकी लगभग 200 वर्ग गज जमीन हड़प ली है. वहीं केस दर्ज करने के बाद पुलिस की एक टीम ने सपा विधायक और उनके भाई के घर छापेमारी की, लेकिन उनका पता नहीं चल सका.

अब फर्जी आधार कार्ड मामले में दर्ज हुआ है केस
सपा विधायक इरफान सोलंकी पर अब फर्जी आधार कार्ड का इस्तेमाल कर हवाई यात्रा करने के मामले में केस दर्ज किया गया है. पुलिस का दावा है कि इरफान ने नकली नाम से दिल्ली और मुंबई की हवाई यात्रा की. आधार कार्ड में उनकी तस्वीर थी, लेकिन नाम अशरफ अली लिखा हुआ था.

संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि विधायक की मदद करने के लिए सपा नेत्री नूरी शौकत, अख्तर मंसूरी, अनवर मंसूरी और अली को गिरफ्तार किया गया है. इशरत अली और अम्मार इलाही को गिरफ्तार किया जाना अभी बाकी है.